What is Computer? Types of Computers

इस पोस्ट में आप सीखेंगे What is Computer (कंप्यूटर क्या है ?) और कौन कौन से types है.

इस सब को details में आप इस आर्टिकल के अंदर पड़ने वाले है तो प्लीज इस पोस्ट को last तक जरुर पड़े ताकि आपको कंप्यूटर के बारे में पूर्ण ज्ञान हो सके.

What is Computer in Hindi? (कंप्यूटर क्या है)

What is Computer in Hindi
What is Computer?

कम्प्यूटर गणितीय और अगणितीय क्रियाओं को करने वाला इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है । यह आँकड़ों को इनपुट के तौर पर लेता है उन्हें प्रोसेस करता है और आउटपुट के तौर पर अर्थपूर्ण नतीजे प्रदान करता है ।

Types of Computer (कंप्यूटर के प्रकार)

Computer को तीन आधारों पर वर्गीकृत किया गया हैं|

  1. कार्यप्रणाली के आधार पर (Based on Mechanism)
  2. उद्देश्य के आधार पर (Based on Purpose)
  3. आकार के आधार पर (Based on Size)

Types of Computers in hindi

Machanism के आधार पर Computer के प्रकार

Machanism के आधार पर कंप्यूटर को तीन भागो Analog, Digital, and Hybrid में वर्गीकृत किया गया हैं|

1) Analog Computer

Analog Computer वे Computer होते है जिनका प्रयोग भौतिक मात्रा को मापने के लिए करते है जैसे- थर्मामीटर |

  • Analog Computer दो परिणामो के बीच तुलना भी कर सकते है.
  • Analog Computer मुख्य रूप से Science and Engineering के क्षेत्र में उपयोग किये जाते है क्योकि इन क्षेत्रो में मात्राओ का अधिक प्रयोग होता हैं|
  • एनालॉग कंप्यूटर Alpha Numeric को process नही कर सकते.

2) Digital Computer

Digit का अर्थ होता है अंक | अर्थात Digital Computer वह Computer होता है जो अंको कि गणना करता है.

  • डिजिटल कंप्यूटर arithmetic operations को भी perform करता है जैसे addition, subtraction, multiplication, division.
  • Digital Computer एनालॉग कंप्यूटर की तुलना में  ज्यादा accurate results provide करता है. but डिजिटल कंप्यूटर की तुलना में एनालॉग कंप्यूटर ज्यादा फ़ास्ट होते है.

3) Hybrid Computer

Hybrid  दोनों Analog और Digital कंप्यूटर की विशेषताओ से मिलकर बनाया गया कंप्यूटर है.

Hybrid Computer दोनों से ज्यादा fast और इसके results भी शुद्ध होते है. Hybrid Computers का इस्तेमाल scientific calculations करने के लिए भी होता है.

ये एक ऐसा कंप्यूटर है जो बाइनरी(0,1) के साथ साथ एनालॉग signal को भी समझता है. 

हाइब्रिड की speed न तो analog कंप्यूटर से ज्यादा होती है और न ही डिजिटल कंप्यूटर से कम होती है.

Example :

  • पेट्रोल पंप पर इनका प्रयोग किया जाता है
  • ICU में पेशेंट के ब्लड प्रेशर और temperature को मापने के लिए एनालॉग device का प्रयोग होता है जिसे बाद में डिजिटल की form में convert किया जाता है.

Purpose के आधार पर Computer 2 प्रकार के होते है 

  • General Purpose Computer
  • Special Purpose Computer

1) General Purpose Computer

General Purpose Computer एक ऐसे कंप्यूटर होते है जो समान्य उदेश्य के लिए तैयार किये जाते है. इन कंप्यूटर पर अनेको कार्य करने की capacity होती है क्योंकि इसमें बढ़िया CPU लगा होता है. और cost भी कम होती है.

इन कंप्यूटर पर अलग अलग सॉफ्टवेर का प्रयोग करके अनेको काम किये जा सकते है.

Example – कोई letter या document तैयार करना, Print करना, डिजाईन करना इत्यादि.
Database से सम्बन्धित कार्य भी कर सकते है, और इनका प्रयोग दुकानों, कार्यलय , स्कूल और personal वर्क के लिए भी होता है.

2) Special Purpose Computer

जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है जो विशेष कार्य के लिए प्रयोग में लाया जाये. इन कंप्यूटर का प्रयोग specific task करने के लिए या कोई particular problem को solve करने के लिए होता है.

Special Purpose Compute को dedicated computers भी कहा जाता है क्योंकि ये single task को बार बार करने के लिए होते है.

ये कंप्यूटर समान्य कंप्यूटर की तुलना में अधिक तेज होते है परन्तु उनकी तुलना में अनेको कार्य नही कर सकते. ये इसकी सबसे बढ़ी drawback है जिन्हें दुसरे operations में प्रयोग नही कर सकते.
इनका प्रयोग निम्न क्षेत्रो में किया जाता है जैसे मौसम विभाग, कृषि विज्ञान, चकित्सा क्षेत्र इत्यादि.

Size के आधार पर इन computers को निम्न category में बांटा गया है

1) Micro Computer

Micro Computer को हम 2 तरीको से परिभाषित कर सकते है एक जिन कंप्यूटर में Micro Processor का प्रयोग होता है दूसरा, जो दुसरे कंप्यूटर की तुलना में छोटे होते है.

ये कंप्यूटर इतने small है कि एक ब्रीफ़केस में भी रख सकते है. छोटे होने से ये नही कि ये कार्य नही कर सकते अपितु ये सभी कार्य करने में सक्षम होते है. इन कंप्यूटर पर एक ही व्यक्ति कार्य कर सकता है.

Internet का कम समय में popular होना ही Micro PC के कारण है. ये कंप्यूटर बहुत ज्यादा popular इसीलिए है कि students, professionals सभी इसका प्रयोग करते है क्योंकि इनका साइज़, कम price, low maintenance cost के कारण इन्हें operate करना बहुत ही आसान होता है.

इन PCs को home या personal कंप्यूटर भी कहते है क्योंकि ये single user द्वारा operate होते है. ये कंप्यूटर मल्टीमीडिया, languages, graphics और games इत्यादि को भी support करता है.

Micro Computer के उदाहरण 

  • Desktop Computer – डेस्कटॉप कंप्यूटर ऐसे कंप्यूटर है जिन्हें एक डेस्क पर सेट किया जा सकता है इनमे एक CPU, Monitor, कीबोर्ड, और mouse होता है. डेस्कटॉप कंप्यूटर को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना मुश्किल होता है but इनकी cost कम होती है.
  • Laptop Computer – Laptop Computer बहुत ही छोटे, portable, और कम पॉवर खर्च करने वाले होते है.वर्तमान में सबसे ज्यादा चलने वाले लैपटॉप कंप्यूटर ही है. इनपे कोई भी कार्य आसानी से किया जा सकता है. इन computers को एक जगह से किसी और जगह ले जाना बड़ा ही सरल है.
  • Notebook Computer – Notebook Computer भी लैपटॉप की तरह ही वर्क करते है बस ये आकार में छोटे होते है और इनकी कार्य क्षमता भी अधिक होती है.
  • Palmtop Computer – जैसे जैसे कंप्यूटर का प्रचलन बढ़ता गया मतलब ज्यादा इस्तेमाल होने लगा तो वैज्ञानिको ने एक computers को develop किया जिसे Palmtop computers कहा जाने लगा. इन computers का इस्तेमाल रिमोट area में भी किया जाता है. जैसे कि इसके नाम से भी पता चल रहा है इन computers को आप हथेली में भी इस्तेमाल कर सकते है.
  • Tablet Computer – Tablet Computer छोटे और पतले आकार का होता है इसे भी कही ले जाया जा सकता है. वर्तमान में जो popular tablet है वह या तो Apple के Ipod है या फिर Samsung galaxy के पैड है. इनका साइज़ और weight बहुत कम होता है.

2) Super Computer

Super Computer सबसे तेज चलने वाले कंप्यूटर है जिसका प्रयोग वैज्ञानिक और इंजिनियर की problem को दूर करने के लिए किया जाता है.

सुपर कंप्यूटर में एक से ज्यादा CPU का उपयोग होता है. और इसकी गति भी बहुत फ़ास्ट होती है. बिलकुल थोड़े समय में ही बड़ी बड़ी problem को हल करने की capability है.

ये कंप्यूटर अकार में बहुत बड़े होते है और सबसे महंगे होते है. इन computers पर एक से ज्यादा व्यक्ति कार्य कर सकते है.

भारत ने पहला सुपर कंप्यूटर Param-8000 को सन 1991 में बनाया गया था. इसे भारत सरकार की ही संस्था C-DAC ने develop किया था. भारत में सबसे तेज सुपर कंप्यूटर Pratyush and Mihir है.

Super Computer को हम अलग अलग कार्यो के लिए इस्तेमाल कर सकते है

  • इसका इस्तेमाल मिलिट्री और Defence system के लिए करते है.
  • Automobile, Aircraft आदि में ही काम में आता है.
  • Weather और Global Climates को forecast करने के लिए इनका इस्तेमाल होता है.

3) Mini Computer

Mini Computers वह कंप्यूटर है जो बड़ी बड़ी कंपनियो और govt. Office में server कंप्यूटर के कार्य के लिए प्रयोग होते है.

इन computers को एक से ज्यादा व्यक्ति operate कर सकते है और इनकी कार्य क्षमता भी बहुत होती है.

ये कंप्यूटर काफी महंगे होते है इसीलिए इनका प्रयोग घरो में नही किया जाता क्योंकि इनके हार्डवेयर दुसरे कंप्यूटर की तुलना में बहुत ज्यादा बड़े होते है.

  • पहला Mini Computer PDP-8 सन 1965 में develop किया गया इसका आकार एक फ्रिज के बराबर था और इनकी cost 18000 डालर थी.

मिनी कंप्यूटर में एक से अधिक CPU होते है और इनका प्रयोग बैंकिंग और यातायात में यात्रियों के आरक्षण प्रणाली के लिए किया जाता है.

4) Mainframe Computer

ये server कंप्यूटर के रूप में कार्य करते है इनका प्रयोग भी बड़ी कंपनियों और सरकारी दफ्तर में database रखने के लिए किया जाता है.

इन computers की कार्य करने के capacity मिनी कंप्यूटर से अधिक होती है. क्योंकि इसका हार्डवेयर मिनी कंप्यूटर से बड़ा होता है.

ये ज्यादा पावरफुल होने की बजह से इनका प्रयोग large business organization, industries और defense में डाटा को process करने के लिए होता है क्योंकि इनमे बहुत ज्यादा complexity होती है.

Mainframe कंप्यूटर का इस्तेमाल इन फ़ील्ड्स के अंदर होता है

  • Government Office में
  • Credit Card processing करने में
  • इंडस्ट्रियल डिजाईन करने के लिए
  • मार्केटिंग में
  • बैंकिंग क्षेत्र में

5) Workstation Computer

वर्कस्टेशन कंप्यूटर का प्रयोग सॉफ्टवेर डेवलपमेंट, डेस्कटॉप, इंजीनियरिंग एप्लीकेशन इत्यादि के लिए होता है.

  • ये computers बहुत महंगे होते है और माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में इनकी कार्य क्षमता अधिक होती है. साइज़ में भी बड़े होते है.
  • ये कंप्यूटर high resolution, ज्यादा RAM और इनबिल्ट नेटवर्क support के साथ आते है. इन computers को business और पेशेवर को ध्यान में रखकर ही बनाया गया है.

To More Learn About What is Computer (in English) – Click Here

What is Data Entry and Keyboard Skills

Conclusion

इस पोस्ट में आपने सिखा What is Computer in Hindi or उसके types. दोस्तों यदि आपको इस पोस्ट से related कोई doubt है तो प्लीज comment करके बताये और हम कोशिश करेंगे अपने comment का reply करने की.

यदि आपको ये पोस्ट अच्छा लगे तो प्लीज जरुर शेयर करना और हमे subscribe करना न भूले. इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद !

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!