What is On Page SEO in Hindi? How to Rank a Website?

नमस्कार दोस्तों, आज के  इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि What is On Page SEO in Hindi (On Page SEO क्या है?) और इससे हम अपने वेबसाइट को Google के First Page में Rank कैसे करवाए ?

अपनी वेबसाइट को हम 2 तरीको से optimize कर सकते है पहला है.  – On Page SEO Optimization, दूसरा है – OFF Page SEO Optimization

OFF Page SEO Optimization के  बारे में जानना चाहते है तो क्लिक करें 

इस आर्टिकल में हम ON PAGE SEO Technique के बारे में बात करेंगे जो कि वेबसाइट के लिए बहुत ही जरूरी है।  लेकिन उससे पहले आपको SEO क्या है ? के बारे में पता होना चाहिए. तो आप हमारे आर्टिकल SEO क्या है ? आर्टिकल को पढ़कर seo के बारे में जान सकते है .

What is On Page SEO in Hindi?

On Page SEO में individual pages को ऑप्टिमाइज़ करके गूगल पर high ranking पाना और इससे ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक लाना उसे On Page SEO कहा जाता है. यह website के Internal part मतलब site के pages पर काम करता है। 

What is On Page SEO in Hindi

On Page SEO में Title, Description, Meta Tags, Content, URL, Keyword density, Content-Length, Subheading tags, Internal Links को optimize करता है। 

On Page SEO का control आपके हाथ में होता है क्योंकि इसमें वेबसाइट का interface पर ध्यान देना होता है और बहुत ही important पार्ट है.

on Page SEO एक पेज के content और HTML कोड को refer करता है वही Off Page seo internal और external Signals को refer करता है.

इस दोनों technique का जब सही से इस्तेमाल हो जाये तो ये Google में Higher Rank पाने में मदद करता है.

अगर सही तरीके से On पेज seo हो जाये तो आपको ब्लॉग में traffic पर अच्छा affect देखने को मिलेगा.

आज हम यही इस आर्टिकल में On Page SEO की तकनीक करने वाले है जिससे हम ये चीज़े करके अपने वेबसाइट को google के First Page पर ला सकते है। 

On Page SEO Techniques in Hindi

इससे पहले हमने ये जान लिया है कि On Page SEO क्या है?  अब हम जानेगे कि हम कौन कौन सी On Page SEO technique प्रयोग कर सकते है जिससे हमारा webpage SERP (search engine Result page) में आ जाये.

1) Title में Focus मतलब Targeted Keyword का Use करें 

Title Tag का इस्तेमाल किसी भी webpage का नाम देने के लिए प्रयोग किया जाता है यह एक HTML elements है.

SEO techniques-title

On Page SEO में सबसे पहले Title को optimize करें क्योंकि search engine सबसे पहले पेज के Title को display करता है.

  • Title tag हमेशा unique और descriptive होना चाहिए जिस topic पर हमने पेज या पोस्ट बनाना है उसका main keyword हमेशा Title में प्रयोग करे.
  • किसी भी webpage में Title की length 60 character से ऊपर न हो मतलब इससे ज्यादा character नही होने चाहिए.
  • ये on-page SEO का main factor है. जितना ज्यादा बढ़िया Title होगा उतने ही लोग उस ब्लॉग के लिंक पर click करेंगे.
  • जितने ज्यादा ब्लॉग पर लिंक होंगे उतनी ही पोस्ट search engine पर rank करेंगी.
  • Search Engine जब content को crawl करते है तो बहुत चीजों को crawl करते है उनमे से एक है सबसे important Title. इससे उसकी सर्च इंजन में value बढ़ जाती है। 

2) High Quality Content Use करें 

इंटरनेट पर daily की लाखो पोस्ट लिखी जाती है. यदि आपने अपनी पोस्ट को First Rank पर लाना चाहते हो. तो आपको अपनी Post के लिए Content अच्छा लिखना ही होगा। 

अगर आप गूगल के फर्स्ट पेज पर चाहते हो तो सिर्फ आपके पेज पर text ही नहीं होना चाहिए उसके अंदर images का भी इस्तेमाल किया जाता है.

पहले आप यदि कोई टॉपिक लेते हो उन्हें गूगल पर top 10 Result में अच्छी तरह read करें. फिर आप उनसे best or long content लिखे.

On Page SEO Technique का इस्तेमाल अच्छे तरीके से  करें तो मैं आपको पक्का कह सकता हूँ. आपकी पोस्ट 6 महीने के अंदर google के First Page पर होगी। 

कुछ High Quality Elements जो आपके पेज पर होने जरूरी है –

  • Content की length 1000 words से ज्यादा होनी चाहिए। 
  • Content का grammar और स्पेलिंग accurate होना चाहिए। 
  • Post में हमेशा Images, Videos का प्रयोग करें। 
  • अपने पोस्ट में हमेशा Internal and External link का जरूर प्रयोग करें। 
  • Text हमेशा Formatted होना चाहिए (H1, H2, H3 tag use करें )
  • Title में Modifier Add करें 

अपनी post की Title को attractive बनाने के लिए आपको Title में Modifier का इस्तेमाल करना चाहिए।  Modifiers जैसे कि “Best”,”Top”, “Good”, “Helpful”, “Guide” or Current Year(2018) keywords के लॉन्ग टेल के लिए रैंक करवाने के लिए हेल्प करता है। 

3) Page या Post का URL Short रखें 

अपने पेज का URL Short रखें क्योंकि गूगल पेज के URL के 3 to 5 वर्ड को importance देता है.

SEO techniques-URL

URL के लिए कुछ tips जो आपको बहुत काम में आयेंगे –

  • अपने URL के अंदर हमेशा Target keyword का प्रयोग करें।
  • कभी भी URL long न हो उसे हो सके तो 75 character तक ही हो.
  • जितना Post के लिए Title important है उतना ही On Page के लिए Permalink भी important है.
    • Example :- bloggerkey.com/what-is-on-page-seo-kya-hai-technique-hindi-2020 (Negative)
      bloggerkey.com/what-is-on-page-seo-hindi (Postive)
  • Useless URL को delete करके manually फ्रेंडली url enter करें.
    • Example :- bloggerkey.com/?p=101 (Negative)
      bloggerkey.com/what-is-on-page-seo-hindi (Positive)

4) Post में Image को Optimize करें 

आपको अपनी पोस्ट में image का हमेशा प्रयोग करें इससे हमारे पोस्ट की Ranking बढ़ती है.

  • यदि आप पोस्ट में कोई image add करते है. उस image का नाम भी वही देना चाहिए. जो आपका target keyword है।
  • आजकल लोग ज्यादा image को देखना पसंद करते है. इसीलिए सर्च इंजन भी मीडिया का यूज़ करने वाली साइट्स की रैंकिंग improve करती है।
  • Images के साथ साथ हो सके तो विडियो को भी add करे जिससे ranking पर बढ़ा इफ़ेक्ट पढता है.
  • Images के ALT Tags में हमेशा targeted keyword का प्रयोग करे क्योंकि SEO के according इसका बहुत ही ज्यादा benefit रहता है.

5) Keyword में Headings का प्रयोग करे 

Heading Tag Search Engine की Ranking के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण factor है. यदि आप Headings जैसे h1, h2, h3 का प्रयोग अपने article में करेंगे तो ranking में बहुत benefit मिलता है. और हमारा कंटेंट User Friendly बनता है.

  • Heading को यदि  keyword के रूप में करते है तो ये On Page SEO optimize को बहुत strong करता है.
  • H1 Tag आपके आर्टिकल की ranking को boost करता है.
  • Heading Tag आपको एक Readable ब्लॉग पोस्ट लिखने में help करता है.
  • कई wordpress theme ऐसे है जो Title के लिए H1 tag का प्रयोग नही करते इसलिए आप हमेशा उस theme को select करे जिसमे Title H1 tag का हो.
  • आप अपने content को कई हिस्सों में break कर सकते है तो इसके लिए आप subheadings(h1 to h6) का इस्तेमाल करें. but ध्यान रहे कि keyword का repetition बार बार न आये.

Example :- यदि आप एक पोस्ट लिखते है और उसमे 4000 से 5000 words है, लेकिन आपने सही headings tags का प्रयोग नही किया तो reader के लिए पढना मुश्किल हो जाता है.

6) Meta Description को Optimize करें 

Meta description उसे कहते है जो सर्च इंजन में URL और Title के निचे दिखने वाला शार्ट Description होता है। 

SEO techniques-meta desc

  • Meta Description में हमेशा target keyword का प्रयोग करें और इसकी जो Length है वो 160 character तक होनी चाहिए। 
  • यदि ब्लॉग हिंदी में है तो Meta Description हिंदी में ही लिखे. अगर इंग्लिश में ब्लॉग है तो Meta Description इंग्लिश में ही लिखें।
  • Meta tags page के content को summarize करते है.
  • ये tags ऐसे tags होते है जो सर्च इंजन को short में आपके आर्टिकल की valuable इनफार्मेशन provide करते है.
  • यदि आप targeted keyword का प्रयोग meta description में करते है तो आपको ranking बढ़ाने में बहुत help मिलेगी.
  • एक factor CTR का भी है जितना ज्यादा बढ़िया meta description होगा उतने ही लोग उस लिंक पर क्लिक करेंगे जिससे traffic increase होगा.

7) अपनी Website की Loading Speed Improve करें 

अगर आपकी वेबसाइट खुलने में ज्यादा टाइम ले रही है. इसका मतलब आपके वेबसाइट की Page Speed कम है. इससे Google आपकी वेबसाइट को Rank नही करेगा.

  • कभी भी user slow loading speed वाली साइटों पर जाना पसंद नही करते.
    हमेशा Fast loading speed वेबसाइट ही user experience और ranking को effect करती है और सर्च इंजन की ranking के लिए बहुत ही अच्छा है.
  • Page Loading Speed एक महत्वपूर्ण technique है क्योंकि slow loading speed वेबसाइट का high bounce rate होता है.

नोट :- हमेशा जो theme प्रयोग करे उसमे loading speed जरुर check करे. हमेशा सही होस्टिंग का प्रयोग करें वो होस्टिंग मत ख़रीदे जिनका वेबसाइट पेज टाइम कम है.

अगर वर्डप्रेस पर ब्लॉग बना रहे हो तो web hosting सही ले इसके इलावा कम से कम plugins, widgets use करें इससे स्पीड बढ़ती है। 

  • ये SEO के लिए बहुत बड़ी प्रॉब्लम है यदि आपने अपनी वेबसाइट की स्पीड का पता करना है. तो आप निचे दिए गए Tools प्रयोग कर सकते हो.
  1. GMetrix
  2. Google Page Speed

8) Internal Links का प्रयोग करना न भूले 

Internal links मतलब अपनी वेबसाइट के दूसरे pages के साथ लिंक करना। 

यदि आप ठीक  तरीके से इंटरनल linking करते हो तो आपके पेज की Ranking भी बढ़ेगी बल्कि जो पेज लिंक किया हुआ है. उनकी भी value बढ़ जाएगी। 

  • ये visitor को आसानी से साईट में navigate करने में help करता है.
  • Pages को index करने के लिए ये search engine की भी मदद करते है. जिससे higher rank achieve कर सकते है.\
  • Internal linking की example आप हमारे इस post में ले सकते है. मेरे दूसरे posts जो इस posts के साथ related है. उनका लिंक मैं इस post में अलग-अलग जगह दिया है.
  • Page or Post में हमेशा रिलेटेड पेजेज को ही लिंक करें. 
  • इंटरनल लिंक का प्रयोग Paragraph में ही करें. 
  • Links में हो सके तो high volume keyword का प्रयोग करें. 

9) Outbound Links (External Links) का भी प्रयोग जरुर करे

External Links मतलव अपनी website में किसी दूसरी websites के साथ link करना

  • अपने पेज या पोस्ट में External Link का भी प्रयोग करें.
  • जैसे Wikipedia में internal linking के साथ साथ reference का सेक्शन अलग से बनाकर external linking करते है. उसी प्रकार आपको भी अपने आर्टिकल में अलग अलग जगह पर external linking करनी चाहिए.
  • External Link या outbound लिंक आपके content में होना जरूरी है क्योंकि ये visitor के लिए और भी अधिक content को informative बना देता है.

नोट :- जिस External साईट का लिंक हो वो Spam न हो और उसका DA और PA भी अच्छा हो ये बात का जरुर ध्यान रखे.

10) Social Share करें 

अपने पेज या पोस्ट पर Social Button का होना हमे पॉजिटिव फीडबैक  मिलता है. और इसे विजिटर अपनी पसंदीदा social platform पर शेयर कर सकते है.

अगर आप WordPress पर ब्लॉग बनाते हो तो आपको इसका Plugin मिल जायेगा। social शेयर करने से आपको अपने वेबसाइट की domain authority बढ़ाने का मौका मिलता है.

11) Affiliate Links के लिए Nofollow Tag का प्रयोग करे

  • अगर आप content में Affiliate Links का प्रयोग करते है तो फिर उनके लिए nofollow tag का उपयोग करे.
  • Nofollow tag का उपयोग rel=”nofollow” tag से सेट करे.
  • इसके लिए ultimate nofollow plugin का भी प्रयोग कर सकते है. यह plugin nofollow के लिए full control देता है.

12) User Experience को Improve करना चाहिए

कुछ points जो remember होने चाहिए

  1. सबसे पहले तो ये पक्का हो कि आपकी वेबसाइट responsive हो और उसमे broken link कम से कम हो.
  2. दूसरा, कि search engine से आने वाले visitor आपकी साईट पर टाइम spend करे. जल्दी ही साईट को बंद न करे क्योंकि इससे Ranking जल्दी डाउन हो जाती है.
  3. तीसरा, logo को अपनी साईट पर चिपके रहने के लिए copyrighting skills का प्रयोग करे.

13) Broken Link को Fix करे

अगर आपकी वेबसाइट पर broken links बहुत ज्यादा है तो Google आपकी साईट को slow गति से crawl करेगा. Google को ऐसा लगेगा कि साईट को बढ़िया तरीके से maintain नही किया गया है.

Broken Links ज्यादा होने से Ranking बहुत ज्यादा डाउन होती है और ये user experience को भी effect करती है.

Broken लिंक find करने के लिए broken लिंक checker plugin का उपयोग कर सकते है ये plugin आपकी साईट में internal और external links दोनों में help करेगा.

14) Website को Mobile Friendly बनाये

सबसे पहले आपकी साईट मोबाइल फ्रेंडली होनी चाहिए क्योंकि यदि आपकी साईट मोबाइल फ्रेंडली नही है तो Google ranking कम कर देता है.

  • इससे आपकी साईट अच्छा rank नही कर पायेगी और अच्छा प्रदर्शन नही कर पायेगी.
  • आज के टाइम में ज्यादातर लोग मोबाइल पर search करते है इसलिए wordpress theme select करते बक्त ये ध्यान रखे कि theme मोबाइल फ्रेंडली होना चाहिए.
  • मेरा एक वेबसाइट है www.technicalpassin.com इस पर ज्यादा searches मोबाइल से ही आते है इसीलिए आप भी साईट बनाते समय ये ध्यान रखे.
  • Mobile Friendly है या नही इसके लिए आप Google के Mobile टेस्टिंग tool का प्रयोग कर सकते है.

15) Keyword Density

  • आजकल आपका content matter करता है कि content कैसा है जबकि keyword density इतना ज्यादा important factor नही है. फिर भी ज्यादा keywords का इस्तेमाल अपने ब्लॉग में न करे.
  • आपके ब्लॉग में keyword density 1% से 2% तक होनी चाहिए.

कुछ Important Tips जो आपको करने चाहिए और नही करने चाहिए

About Keyword Placement 

  1. Title में keyword का प्रयोग करे. 
  2. URL में Keyword का प्रयोग करे.
  3. Image के ALT Tag में use करे.
  4. Headings में keywords 
  5. First Paragraph में keyword अवश्य इस्तेमाल करे.
  6. आपके पोस्ट में keyword density 1.5% होनी चाहिए.

कुछ points जो चीज़े नही करनी 

  1. H1 tag का ज्यादा प्रयोग न करे.
  2. H2 और H3 को ज्यादा repeat न करे. 
  3. अपने आर्टिकल में keywords को stuff न करे.

अब तक आपने सीखा :

जैसा कि इस आर्टिकल से आपको पता लग गया होगा कि On Page SEO क्या होता है और ये कैसे काम करता है और इसके techniques. 

दोस्तों, यदि आपको इस पोस्ट से related कोई भी doubt है तो आप हमे comment करके पूछ सकते है. मैं पूरी कोशिश कुरंगा आपके comment का reply करने की.

यदि आपको पोस्ट अच्छा लगे तो please इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करदे ताकि कोई भी नया blogger जब वेबसाइट बनाना स्टार्ट करे उसे on page seo के बारे में details में पता चल जाये.

Leave a Comment

error: Content is protected !!