9th Class IT Notes – Computer Fundamentals in Hindi

Computer Fundamentals in Hindi

Q:-   Computers क्या है ?

Ans:- कम्प्यूटर गणितीय और अगणितीय क्रियाओं को करने वाला इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है । यह आँकड़ों को इनपुट के तौर पर लेता है उन्हें प्रोसेस करता है और आउटपुट के तौर पर अर्थपूर्ण नतीजे प्रदान करता है ।

Q:-   Input Devices क्या है ?

Ans:- इनपुट डिवाइस एक हार्डवेयर डिवाइस है जो कंप्यूटर को डेटा भेजता है, जिससे आप कंप्यूटर से संपर्क कर सकते हैं और उसे नियंत्रित कर सकते हैं। एक इनपुट डिवाइस कंप्यूटर पर डेटा भेजने के लिए उपयोग किया जाने वाला हार्डवेयर या बाह्य उपकरण है

Q:-   Output Devices क्या है ?

Ans:- आउटपुट उपकरणों का प्रयोग कंप्यूटर में प्रोसेस हुए आँकड़ों के नतीजों को दिखाने के लिए किया जाता है । मॉनीटर और प्रिन्टर दो मुख्यतः प्रयोग में लाये जाने वाले आउटपुट उपकरण हैं । ये आउटपुट उपकरण को मशीनी संकेतों में लेते हैं और उन्हें मानवीय भाषा में परिवर्तित करते हैं ।

Q:-   Hardware के बारे में बताये ?

ANs:- हार्डवेयर Computer का Machinery भाग होता है जैसे LCD, की-बोर्ड, माउस, सी0पी0यू0, यू0पी0एस0 आदि जिनको छूकर देखा जा सकता है। इन Machinery Part के मिलकर computer का बाहरी भाग तैयार होता है तथा Computer इन्‍ही हार्डवेयर भागों से computer की क्षमता का निर्धारण किया जाता है

Computer Fundamentals in Hindi

Q:-   Software का क्या प्रयोग है और यह कितने प्रकार का होता है ?

Ans:- सॉफ्टवेयर, प्रोग्रामिंग भाषा द्वारा लिखे गये निर्देशों की श्रृंखला है, जिसके अनुसार दिए गये डेटा का प्रोसेस होता है । बिना सॉफ्टवेयर के कम्प्यूटर कोई भी कार्य नहीं कर सकता है ।

कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर विभिन्न तरह के होते हैं । सामान्यतः इसे तीन वर्गों में वर्गीकृत किया जाता है :

  1. सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software)

यह कम्प्यूटर हार्डवेयर को नियंत्रित करता है कि अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर अच्छी तरह से चल सके । जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम, डिवाइस ड्राइवर, विंडोज सिस्टम आदि ।

  1. अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर (Application Software)

यह यूजर को एक या एक से अधिक कोई विशेष कार्य पूरा करने की अनुमति देता है । उच्च स्तरीय की कम्प्यूटर भाषाओं का उपयोग कर अनुप्रयोग सॉफ्टवेयर बनाये जाते हैं । सॉफ्टवेयर प्रोग्राम अंग्रेजी भाषा का प्रयोग करते हुए लिखा जाता है, अतः यूजर आसानी से कम्प्यूटर का उपयोग कर सकता है । जैसे – वर्ड प्रोसेसर, औद्योगिक स्वचालन, व्यापार सॉफ्टवेयर और चिकित्सा सॉफ्टवेयर आदि ।

  1. प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर (Programming Software)

यह आमतौर पर कम्प्यूटर प्रोग्राम लिखने में एक प्रोग्रामर की सहायता करने के लिए उपकरण प्रदान करता है, जैसे – पाठ संपादक, कम्पाइलर, डि-बगर, इन्टरप्रेटर आदि ।

Q:-   Operating System क्या होता है ?

Ans:- ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System)एक ऐसा प्रोग्राम है जो कम्प्यूटर के हार्डवेयर और उपभोक्ता के बीच माध्यम का काम करता है । ऑपरेटिंग सिस्टम का प्राथमिक लक्ष्य कम्प्यूटर सिस्टम को प्रयोग के लिए सुविधाजनक बनाना है और इसका द्वितीय लक्ष्य कम्प्यूटर हार्डवेयर को सुचारू रूप से चलाना है ।

Q:-   Define the CPU, ALU and MU.

Ans:- CPU का पूरा नाम Central Processing Unit है । इसे प्रोसेसर या माइक्रोप्रोसेसर भी कहता हैं । यह पीसी से जुड़े विभिन्न उपकरणों को नियंत्रित करता है । यह कम्प्यूटर द्वारा प्राप्त सूचनाओं का विश्लेषण करता है । यह एक इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोचिप है जो डेटा को इनफॉर्मेशन में बदलते हुए प्रोसेस करता है । इसे कम्प्यूटर का ब्रेन कहा जाता है ।यह इनपुट तथा आउटपुट यूनिट से मिलकर पूरा कम्प्यूटर सिस्टम बनाता है ।

  • अर्थमेटीक लॉजिक यूनिट (Arithmetic Logic Unit ) :- इसका उपयोग अंकगणितीय तथा तार्किक गणना में होता है । अंकगणितीय गणना के अन्तगर्त तुलनात्मक गणना के अन्तगर्त जोड़, घटाव, गुणा और भाग इत्यादि तथा तार्किक गणना के अन्तगर्त तुलनात्मक गणना जैसे (<, > या =), हाँ या ना इत्यादि आते हैं ।
  • कंट्रोल यूनिट (Control Unit) :- यह कम्प्यूटर के सारे कार्यों को नियंत्रित करता है तथा कम्प्यूटर के सारे भागों जैसे इनपुट, आउटपुट डिवाइसेज, प्रोसेसर इत्यादि के सारे गतिविधियों के बीच तालमेल बैठाता है ।
  • मेमोरी यूनिट (Memory Unit) :- यह डेटा तथा निर्देशों के संग्रह करने में प्रयुक्त होता है । इसे मुख्यतः दो वर्गों प्राइमरी तथा सेकेंडरी मेमोरी में विभाजित करते हैं । जब कम्प्यूटर कार्यशील रहता है, अर्थात वर्तमान में उपयोग हो रहे डेटा तथा निर्देशों का संग्रह प्राइमरी मेमोरी में होता है । सेकेंडरी मेमोरी का उपयोग बाद में उपयोग होने वाले डेटा तथा निर्देशों को संग्रहित करने में होता है

Computer Fundamentals in Hindi

Q:-   Input Devices के नाम बताये .

Ans:- Input Device कई प्रकार के होते है जो निम्न प्रकार है –

  • Keyboard
  • Mouse
  • Joystick
  • Trackball
  • Light pen
  • Touch screen
  • Digital Camera
  • Scanner
  • Digitizer Tablet
  • Bar Code Reader
  • OMR
  • OCR
  • IMCR
   

Q:-   सभी Output Devices के नाम लिखें

Ans:- आउटपुट डिवाइस कई प्रकार के होते है |

मॉनीटर (Monitor)

प्रिंटर (Printer)

प्लोटर (Plotter)

प्रोजेक्टर (Projector)

साउंड कार्ड (Sound Card)

इअर फोन(Ear phone)

 

Q:-   Memory किसे कहा जाता है ?

Ans: मेमोरी कम्प्यूटर का बुनियादी घटक है । यह कम्प्यूटर का आंतरिक भंडारण क्षेत्र है । केन्द्रीय प्रोसेसिंग इकाई (CPU) को प्रोसेस करने के लिए इनपुट डाटा एवं निर्देश चाहिए, जो की मेमोरी में संग्रहित रहता है । मेमोरी में ही संग्रहित तथा निर्देश का प्रोसेस होता है, तथा आउटपुट प्राप्त होता है । अतः मेमोरी कम्प्यूटर का एक आवश्यक अंग है 

Q:-   Primary Memory और Secondary Memory में क्या अंतर है और इसके कितने टाइप्स है ?

Ans:- RAM का पूरा नाम है Random Access Memory, इसको Direct Access Memory भी बोला जाता है, यह Memory ज्यादा दौर पर Computer में कम Size में रहती है Secondary Memory की तुलना में जैसे आपके Mobile में 1GB, 2GB, 3GB, 4GB तक होती है

Characteristics of RAM

  1. RAM Volatile Memory है.
    यह ज्यादा महंगी होती है दूसरे Memory की तुलना में.
    3. इसकी Capacity कम होती है Secondary Memory की तुलना में इसके.
    4. स्पीड की बात की जाए तो यह Secondary Memory से काफी हद तक स्पीड होती है .
    5. जब बिजली बंद हो जाता है यह Memory खाली हो जाती है.
    6. सारे Program, Application, Instruction इस Memory में ही चलते हैं.
    7. इस Memory को CPU इस्तेमाल करता है.
    8. इसको Computer की Working Memory भी बोला ज्याता है.

ROM कंप्यूटर मे built-in memory होती है जिसका डेटा read only होता है एवं उसमे कुछ भी write or modify नहीं किया जा सकता| Generally, ROM को computer की boot settings के लिए प्रोग्राम किया जाता है एवं इसका डेटा मुख तौर पर कंप्यूटर के boot time मे काम आता है|

Memory कंप्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग है जहाँ डाटा, सूचना, एवं प्रोग्राम प्रक्रिया के दौरान उपस्थित रहते है और आवश्यकता पड़ने पर तत्काल उपलब्ध रहते है यह मेमोरी अस्थिर मेमोरी होती है क्योकि इसमें लिखा हुआ डाटा कंप्यूटर बंद होने या बिजली के जाने पर मिट जाता है प्राइमरी मेमोरी कहलाती हैं| इसे प्राथमिक मेमोरी या मुख्य मेमोरी भी कहते हैं|

प्राइमरी मेमोरी मुख्यतः दो प्रकार की होती है –

रैम (RAM)

रोम (ROM)

RAM (Random Access Memory):- 

RAM  या Random Access Memory कंप्यूटर की अस्थाई मेमोरी (Temporary Memory) होती हैं| की-बोर्ड या अन्य किसी इनपुट डिवाइस से इनपुट किया गया डाटा प्रक्रिया से पहले रैम में ही संगृहीत किया जाता है और सी.पी.यू. द्वारा आवश्यकतानुसार वहाँ से प्राप्त किया जाता है रैम में डाटा या प्रोग्राम अस्थाई रूप से संगृहीत रहता है कंप्यूटर बंद हो जाने या विजली चले जाने पर रैम में संगृहीत (Store) डाटा मिट जाता हैं| इसलिए रैम को Volatile या अस्थाई मेमोरी कहते है 

ROM (Read only memory):- रोम का पूरा नाम रीड ऑनली मेमोरी होता हैं| यह स्थाई मेमोरी (Permanent memory) होती है जिसमे कंप्यूटर के निर्माण के समय प्रोग्राम Store कर दिये जाते हैं| इस मेमोरी में Store प्रोग्राम परिवर्तित और नष्ट नहीं किये जा सकते है, उन्हें केवल पढ़ा जा सकता हैं| इसलिए यह मेमोरी रीड ऑनली मेमोरी कहलाती हैं| कंप्यूटर का स्विच ऑफ होने के बाद भी रोम में संग्रहित डाटा नष्ट नहीं होता हैं| अतः रोम नॉन-वोलेटाइल या स्थाई मेमोरी कहलाती हैं| 

Secondary Storage Device को Auxiliary Storage Device भी कहा जाता है। यह कम्प्यूटर का भाग नही होती है। इसको कम्प्यूटर में अलग से जोडा जाता है। इसमें जो डाटा स्टोर किया जाता है। वह स्थाई होता है। अर्थात् कम्प्यूटर बंद होने पर इसमें स्टोर डाटा डिलीट नही होता है। आवश्यकता के अनुसार इसको भविष्य में इसमें सेव फाईल या फोल्डरों को खोल कर देख सकते है। या इसमें सुधार कर सकते है। एवं इसको यूजर के द्वारा डिलिट भी किया जा सकता है। इसकी Storage क्षमता अधिक होती है Secondary Storage Device में Primary memory की अपेक्षा कई गुना अधिक डाटा स्टोर करके रख सकते हैं, जो की स्थानांतरणीय (Transferable) होता हैं एवं डाटा को ऐक्सेस करने कि गति Primary Memory से धीमी होती है। Secondary Memory में फ्लॉपी डिस्क, हार्डडिस्क, कॉम्पेक्ट डिस्क, ऑप्टिकल डिस्क, मेमोरी कार्ड, पेन ड्राइव आदि आते हैं|

Name of Secondary Devices :-

Hard Disk, Magnetic Disk, Floppy Disk, Optical Disk, Flash Drive

Q:-   Internet किसे कहा जाता है ?

Ans:- Internet जिसको की short मे net भी कहा जाता है अनगिनत एवं आपस मे connected computer network का समूह है जिसकी help से आप एक computer से दूसरे computer पर सभी तरह की information को exchange कर सकते है | सभी computers को internet से connect करने के लिए बहुत सारी organizations एक managed way मे TCP/IP एवं other technologies को use करते हुए servers, switches, routers, fiber cables आदि की help से internet को globally connect करती है |

Computer Fundamentals in Hindi

Q:-   Email क्या है ?

Ans:- इलैक्ट्रानिक मेल या संक्षेप मे ई-मेल इंटरनेट की सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली सेवा है। इलैक्ट्रानिक मेल एक ऐसा इलैक्ट्रानिक संदेश होता है, जो किसी नेटर्वक से जुडे विभिन्न कम्प्यूटरो के बीच भेजा व प्राप्त किया जाता है। ई-मेल का उपयोग व्यक्तियो या व्यक्तियो के समूहो के बीच जो भौगोलिक रूप से हजारो मील दूर भी हो सकता है। लिखित संदेश भेजने मे किया जाता है। ई-मेल को मेल सर्वर के माध्यम से भेजा जाता और प्राप्त किया जाता है। कोई मेल सर्वर ऐसा कम्प्यूटर होता है। जिसका कार्य ई-मेलो को प्रोसेस करना और उचित क्लाइंट कम्प्यूटरो को भेजना होता है।

Q:-   What is ISP?

Ans:- वह कंपनी जो इन्टरनेट एक्सेस प्रदान करती है इन्टरनेट सेवा प्रदाता (Internet Service Provider) कहलाती है| किसी अन्य कंपनी की तरह ही इन्टरनेट सेवा प्रदाता अपनी सेवाओ के लिए User से पैसा लेती है|

Q:-   Name of three internet service providers in india?

Ans:- B.S.N.L., Airtel, Aircel, Idea, etc

Q:-   Name of any three internet browser.

Ans:- Internet Explorer, Mozilla Firefox, Opera, Chrome, Netscape Nevigator

Q:-   Name of two Internet search Engine.

Ans:-

  1. Google
  2. Bing
  3. Yahoo

Q:-   Define the term WWW.

Ans:- वर्ल्ड वाईड वेब मे सूचनाओ को वेबसाईट के रूप मे रखा जाता है। ये वेबसाइटे वेब सर्वर पर हाईपरटैक्स्ट फाइलो को संग्रहित होती है। वर्ल्ड वाईड वेब की एक नाम प्रणाली हैै, जिसके द्वारा प्रत्येक वेबसाइट को एक विशेष नाम दिया जाता है। उसी नाम से उसे वेब पर पहचाना जाता है। किसी वेबसाइट के नाम को उसका URL (Uniform Resource Locator) भी कहा जाता है।

Q:-   Web Browser, Web Page and Web site के बारे में शोर्ट नोट लिखें ?

Ans:- वेब एक विशाल पुस्तक की तरह है तथा वेब ब्राऊजर एक सॉफ्टवेयर है जो कम्प्यूटर को इंटरनेट से जोड़ता है । यह बहुत ही महत्वपूर्ण सॉफ्टवेयर है । ब्राऊजर वर्ड वाइड वेब पर साइट देखने का एक सामान्य साधन है । इन सॉफ्टवेयर का उपयोग कर हमलोग इंटरनेट से जुड़ने में सक्षम होते हैं, तथा वेब से अपने पसंद की जानकारियों को प्राप्त कर सकते हैं । यह अनेक कार्यों को जैसे की ई-मेल, खबरें, इंटरनेट से बात करना, वार्तालाप, मल्टीमीडिया आदि को नियंत्रित करता है ।

कुछ प्रमुख वेब ब्राऊजर निम्नलिखित है :-

  • नेटस्केप नेविगेटर (Netscape Navigator)
  • माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट एक्सपलोरर (Microsoft Internet Explorer)
  • मौजिला फायरफॉक्स (Mosilla Firefox)
  • NCSA मॉजैक (NCSA Mosaic)
  • ओपेरा (Opera)
  • सफारी (Safari)
  • क्रोम (Chrome)

Website :-   एक website बहुत सारे web pages का collection होती है एवं इन वेब पेजेज मे बहुत सारी अलग अलग तरह की जानकारी हो सकती है | ये इनफार्मेशन text के साथ साथ graphics, animation, sound or video के रूप मे भी हो सकती है |

Computer Fundamentals in Hindi

Q:-   Search Engine क्या है?

Ans:- वेबसाइट मे सर्च इंजन एक अत्याधिक लोकप्रिय तथा सुविधाजनक प्रोग्राम है। सर्च इंजन एक ऐसा प्रोग्राम है जो इंटरनेट पर उपलब्ध सूचनाओ मेे से किसी विशेष सूचना को ढूढकर हमारी स्क्रीन पर प्रदर्शित करता है, जैसे किसी संस्था, कंपनी, काॅलेज, विश्वविद्यालय इत्यादि के बारे मे हमे कोई जानकारी प्राप्त करनी है तो इसके लिये हम Search Tool का प्रयोग करते है तथा इनमे से जिसके बारे मे विस्तृत जानकारी प्राप्त करना चाहते है वह जानकारी प्राप्त कर सकते है। विभिन्न प्रकार के निम्नलिखित सर्च इंजन इंटरनेट पर उपलब्ध है।

Q:-   E-Commerce क्या है ?

Ans:- इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स (Electronic Commerce) इंटरनेट जैसे बड़े इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क पर व्यापार करने का एक तरीका है । ई-कॉमर्स के अंतगर्त वस्तुओं या सेवाओं को खरीद या बिक्री इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम जैसे – इंटरनेट के द्वारा होता है । यह इंटरनेट पर व्यापर है । ई-कॉमर्स को व्यापक रूप से इंटरनेट पर उत्पादों की खरीदारी और बिक्री माना जाता है

Q:-   Computer Security किसे कहा जाता है?

Ans:- Computer security को cyber security कह कर भी पुकारा जाता है। इस का एक और नाम है IT security। यह प्रणाली online hackers’ और क्षतिग्रस्त hardware, software से सुरक्षा प्रदान करती है। computer system में जो network access, coding files, और अन्य डाटा files के द्वारा नुकसानकारक (harmful) तत्व attack करते हैं उन्हे रोकने के लिए computer security काफी महत्वपूर्ण है।

Q:-   Computer Privacy किसे कहा जाता है ?

Ans:- यह एक encryption तथा decryption कंप्यूटर प्रोग्राम है जो कि इंटरनेट में ईमेल messages को encrypt तथा decrypt करने के लिए प्रयोग में लाया जाता है।

Q:- Computer कौन सी भाषा को समझता है ?

Ans. Computer जो भाषा को समझता है वो है Binary |

Q:- Computer में बाइनरी भाषा कौन सी है ?

Ans. कंप्यूटर में बाइनरी भाषा 0 और 1 है

Q:- Computer में Bit or Byte किसे कहा जाता है ?

Ans.

Bit – जानकारी की सबसे छोटी इकाई बिट है जो कंप्यूटर ले सकता है एक बिट केवल 0 या 1 हो सकता है |

Byte – 8 bits मिलकर 1 बाइट बनता है |

Q:- CPU का पूरा नाम लिखें ?

Ans. CPU – Central Processing Unit (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट )

Q:- CPU क्या है ?

Ans. इसे प्रोसेसर या माइक्रोप्रोसेसर भी कहता हैं । यह पीसी से जुड़े विभिन्न उपकरणों को नियंत्रित करता है । यह कम्प्यूटर द्वारा प्राप्त सूचनाओं का विश्लेषण करता है ।

Q:- ALU का पूरा नाम क्या है ?

Ans. ALU-  Arithmetic Logic Unit

Q:-   Input Devices के नाम बताये .

Ans:- Input Device कई प्रकार के होते है जो निम्न प्रकार है –

Keyboard, Mouse, joystick, trackball, lightpen, touch screen, digital camera, scanner, Bar Code Reader, OMR, OCR

Q:-   सभी Output Devices के नाम लिखें

Ans:- आउटपुट डिवाइस कई प्रकार के होते है |

मॉनीटर (Monitor), प्रिंटर (Printer), प्लोटर (Plotter),  प्रोजेक्टर (Projector), साउंड कार्ड (Sound Card), इअर फोन(Ear phone)

Q:-     Folder क्या है ?

Ans.   एक folder GUI इंटरफ़ेस में प्रोग्राम और फाइल्स के लिए एक कंटेनर है

Q:-     1 Gigabyte में कितने mb होते है ?

Ans.  1 Gigabyte में 1024 MB  होते है

Q:-     कंप्यूटर में RAM क्या काम करती है ?

Ans. RAM  या Random Access Memory कंप्यूटर की अस्थाई मेमोरी (Temprery Memory) होती हैं| की-बोर्ड या अन्य किसी इनपुट डिवाइस से इनपुट किया गया डाटा प्रक्रिया से पहले रैम में ही संगृहीत किया जाता है|

Q:-     ROM क्या है ?

Ans. ROM (Read only memory):- रोम का पूरा नाम रीड ऑनली मेमोरी होता हैं| यह स्थाई मेमोरी (          Permanent memory) होती है जिसमे कंप्यूटर के निर्माण के समय प्रोग्राम Store कर दिये जाते हैं|

Q:-   Intranet क्या है ?

Ans.  Intranet एक विशेष प्रकार का नेटवर्क है जो किसी संगठन के अंदर जानकारी संचार और साँझा करने के लिए उपयोग किया जाता है |

Q:-   Local Area Network किसे कहा जाता है ?

Ans. दो या दो से ज्यादा कंप्यूटर को जोड़कर बनाया गया नेटवर्क लोकल एरिया नेटवर्क कहलाता है |

Q:-   Wide Area Network किसे कहा जाता है ?

Ans.  wan एक नेटवर्क है जो भोगोलिक दृष्टि से अलग क्षेत्रों में उपकरणों को जोड़ता है यह संसार भर में सुचना को आदान प्रदान करने के लिए उपयोग किया जाता है |

Q:-   Firewall क्या है ?

Ans.  Firewall एक फ़िल्टर जो आपके कंप्यूटर या निजी नेटवर्क तक पहुंचने से पहले internet से अविश्वसनीय जानकारी को रोकता है यह हैकर और वायरस जैसे खतरों के खिलाफ अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान करता है |

Q:-   Modem किसे कहा जाता है ?

Ans.  Modem एक कनेक्शन device है जो आपको अपने कंप्यूटर को internet से connect करने की अनुमति देता है | यह डिजिटल जानकारी तो एनालॉग में और एनालॉग तो डिजिटल में कन्वर्ट करता है |

Q:-   Virus क्या है ?

Ans.  वायरस एक कंप्यूटर प्रोग्राम किसे किसी कंप्यूटर के खराब करने या कंप्यूटर पर data को नुकसान पहुँचाने  के लिए डिजाईन किया गया है |

1 thought on “9th Class IT Notes – Computer Fundamentals in Hindi”

Leave a Comment

error: Content is protected !!