RTI Kya Hai | What is RTI in Hindi

नमस्कार दोस्तों, आज हम एक और आर्टिकल http://Bloggerkey.com इस पर ले कर आए हैं, जो कि यह है कि RTI Kya Hai? आज के इस युवा  समय  में जनता को अधिकार है कि वह RTI के जरिए किसी भी सरकार विभाग में आवेदन कर सकता है।

RTI का मतलब राइट to इनफॉरमेशन एक्ट अधिनियम के तहत कोई भी नागरिक किसी भी सरकारी डिपार्टमेंट से पूछताछ कर सकता है।यह आम आदमी का अधिकार है, कि किसी भी सरकारी विभाग से पूछताछ वह कर सकता है।

उसके पास राइट्स है सरकारी डिपार्टमेंट में फैली भ्रष्टाचार को पूरी तरह से रोकने का, यह सिस्टम को पारदर्शक बनाने के लिए एक बहुत ही अच्छा कदम है, इससे संबंधित सारी बातें हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा आज बताएंगे अच्छी तरह जानकारी लेने के लिए हमारे आर्टिकल के साथ आप अंत तक बने रहें।

RTI Kya Hai | What is RTI in Hindi

RTI का मतलब होता है, राइट टू इनफार्मेशन एक्ट यह अधिनियम खास तौर पर भ्रष्टाचार के खिलाफ 2005 में निर्माण किया गया था, जिसे सूचना का अधिकार कहा गया है इसी को RTI कहते हैं इसके अंतर्गत कोई भी आम व्यक्ति किसी भी सरकारी डिपार्टमेंट से जानकारी लेना चाहे तो उसे वह हक है कि वह जानकारी ले सकता है।

लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि पूछे जाने वाली जानकारी अफवाहों पर आधारित ना हो सबूतों पर आधारित होनी चाहिए आप यह पूछ सकते हैं कि विकास कार्यों में आने वाला सभी पैसा कितना आया था और कितना इन विकास कार्यों में लगा है।

सरकारी राशन की दुकानों पर भी आप पूछताछ कर सकते हैं कि कितना राशन आया था कितना बांटा गया और कितना ब्लैक में रख लिया गया इससे भ्रष्टाचार को काफी लगाम लगेगी कॉलेज स्कूल डिपार्टमेंट और हॉस्पिटल से आप इसके बारे में सवाल जवाब तलब कर सकते हैं यही एक आम आदमी का अधिकार है जिसे RTI कहते है।

RTI के आवश्यक नियम | RTI Rules

RTI लगाने के लिए आपको कुछ नीयमोमौ का भी पालन करना पड़ता है जो की बहुत ही जरूरी है अगर आपको यह नहीं पता है कि वह कौन से नियम है, तो आप RTI नहीं लगा सकते आपकी जानकारी के लिए हमने नीचे कुछ पॉइंट्स में इनके नियम बताए हैं तो उन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  • आवेदक के साथ आवेदन शुल्क के भुगतान का सबूत होना अवश्य चाहिए।
  • आवेदक भारत का ही नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदन का उत्तर भेजने के लिए आवेदक का एड्रेस उपलब्ध होना चाहिए।
  • आवेदन में पूछे गए सुवालका स्पष्ट और विस्तृत विवरण होना चाहिए।
  • आवेदक से कंडक्ट करने के लिए जरूरी व्यक्तिगत विवरण को छोड़कर किसी भी तरह की व्यक्तिगत जानकारी देने की आवश्यकता नहीं होती और ना ही लोक सूचना अधिकारी द्वारा मांगी जाती है।

RTI कि जरूरतमंद धारा

  • धारा 6 (1) – RTI  के आवेदन लिखने के लिए यह धारा इस्तेमाल होती है।
  • धारा 6 (3) – अगर आपका आवेदन गलत विभाग में चला गया है, तो वह विभाग इसको 6 (3) धारा के अंतर्गत सही विभाग में 5 दिन के अंदर अवश्य भेज देगा।
  • धारा 7(5) – इस धारा के अनुसार BPL कार्ड वालों को कोई RTI शुल्क नही देना होता।
  • धारा 7 (6) – इस धारा के अनुसार अगर RTI का जवाब 30 दिन में नहीं आपाता है, तो सूचना फ्री में  दे दी जाएगी।
  • धारा 18 – अगर कोई अधिकारी जवाब नही देता है, तो उसकी शिकायत सूचना अधिकारी को दी जाए।
  • धारा 8 – इस के अनुसार वो सूचना RTI में नहीं दी जाएगी जो देश की अखंडता और सुरक्षा के लिए खतरा हो या विभाग की आंतरिक जांच को प्रभावित करती हो।
  • धारा 19 (1) – अगर आप की RTI का जवाब 30 दिन में नहीं आता है। तो इस धारा के अनुसार आप अधिकारी को प्रथम अपील कर सकते हो।
  • धारा 19 (3) – अगर आपकी प्रथम अपील का भी जवाब नही आता है, तो आप इस धारा की मदद से 90 दिन के अंदर दूसरी अपील अधिकारी को कर सकते हैं।

RTI के फायदे | RTI Benefits

RTI के बहुत सारे फायदे हैं जिसे 2005 मैं भ्रष्टाचार कम करने के लिए लागू किया गया था तब से लेकर अब तक भ्रष्टाचार की मात्रा कुछ हद तक कम हो गई है, मगर अब धीरे-धीरे लोग इस अधिकार के बारे में बूलते जा रहे हैं, इस वजह से इसके कुछ फायदे में आपको नीचे बताने जा रहा हूं ध्यान से पढ़ें।

  • RTI की वजह से हम सरकार से किसी भी तरह का सवाल कर सकते हैं।
  • RTI  ऐसा हथियार है जिससे हम सरकार से किसी भी दस्तावेज की जांच करवा सकते हैं।
  • RTI हमें किसी भी कामकाज का निरीक्षण करने में भी मदद करती हैं।
  • RTI के द्वारा हम सरकार से किसी भी दस्तावेज की प्रमाणित कॉपी मांग सकते हैं।
  • RTI भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बड़ा कदम है।
  • लोगों ने RTI के इस्तेमाल से कई ऐसे जानकारी हासिल की है जिससे उनके रोज करना की समस्याएं सुलझ गई है।

RTI Act 2005 in Hindi

RTI Act 2005 में बनाया गया था और यदि इसके बारे में आप डिटेल्स के अंदर पढना चाहते है तो आप निचे दी गयी पीडीऍफ़ फाइल को डाउनलोड करके रीड कर सकते है

Online RTI Kaise Kare | RTI Application कैसे लगाये

  • सबसे पहले आपको इनकी official वेबसाइट https://rtionline.up.gov.in/ को ओपन करना होगा |
RTI Kaise Kare- 01
  • वेबसाइट ओपन होते ही homepage आपके सामने आ जायेगा |
  • यदि आप नया आवेदन करना चाहते है तो होम पेज पर Submit Request टैब पर क्लिक करना होगा |
  • क्लिक करने पर एक नया पेज खुल जायेगा जिसमे आपको कुछ guideline लिखी हुई दिखाई देगी |
RTI Guidelines -02
  • इन सब इंस्ट्रक्शन को रीड करके निचे दिए गये एक बॉक्स में tick करदे |
  • क्लिक करने पर एक नया पेज ओपन हो जायेगा जिसमे आपको अपना ईमेल और मोबाइल नंबर डालना होगा |
RTI Email or Mobile-03
  • आप हमेशा ईमेल और मोबाइल नंबर सही दे क्योंकि rti की सारी इनफार्मेशन आपको SMS के जरिये प्राप्त होगी |
  • फिर आपने captha कोड फुल करके सबमिट बटन पर क्लिक करना है |
  • ये करने के बाद RTI request Form ओपन हो जायेगा, इस फॉर्म में आपने इसमें द्वारा मांगी गयी सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक फिल करना होगा |
RTI form -04
  • जहाँ जहाँ पे स्टार(*) का sign है उन्हें फिल करना अति आवश्यक है |
  • RTI आवेदन में आप 3000 शब्द तक ही लिख सकते है जिसमे आप A-Z, a-z, 0-9 और स्पेशल करैक्टर का इस्तेमाल कर सकते है |
  • इसके बाद यदि गरीबी रेखा से ऊपर है तो उस कॉलम में No कीजिये नही तो yes कर दीजिये |
  • जिनके पास BPL कार्ड है उन्हें किसी भी तरह का शुल्क नही देना है but जिनके पास नही है उन्हें 10 रुपए आवेदन शुल्क देना होगा |
  • यदि आप BPL है तो उससे सम्बधित डॉक्यूमेंट की कॉपी अपलोड करनी होगी और उस डॉक्यूमेंट का साइज़ आपने 1 MB से कम और पीडीऍफ़ फाइल में होनी चाहिए | उसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करदे
  • ये सब करने पर आपके आवेदन की प्रक्रिया कम्पलीट हो जाएगी

FAQs:-

आशा करता हूं, आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सब कुछ अच्छे से समझ आ गया होगा, अगर आपको कुछ भी परेशानी हो रही है हमारे आर्टिकल को पढ़ते समय या आपके मन में कोई सवाल आ रहा है, तो आप वह हमसे कमेंट सेक्शन में अवश्य पूछें, वैसे तो हमने काफी व्यक्तियों से बात करके कुछ ऐसे सवाल चुने हैं जो हर किसी व्यक्ति के दिमाग में जरूर आते ही हैं, तो चलिए हम आपको वह सवाल बताते हैं।

RTI की फुल फॉर्म क्या होती है? ( Full Form of RTI)

RTI की फुल फॉर्म Right to Information होती है।

RTI कानून कब लागू हुआ था?

12 अक्टूबर 2005 मैं RTI का यह कानून लागू हुआ था।

RTI का अधिकार किसको है?

RTI का अधिकार देश के हर एक नागरिक को है।

CONCLUSION:-

तो यह थी RTI Kya Haiकि पूरी जानकारी, उम्मीद करता हूं कि बताई गई सभी जानकारी आपको प्रभावित करेगी, आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी हमारे आर्टिकल पर रिव्यु अथवा कमेंट करके जरूर बताईये।

अगर आपको  हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सब कुछ अच्छे से समझ आया तो इस आर्टिकल को उन लोगों तक जरूर शेयर करें या अपने उन दोस्तों तक जरूर शेयर करें जो RTI के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं।

इस आर्टिकल में हमने आपको बिल्कुल डिटेल से जानकारी देने की कोशिश की है, अगर आपको आर्टिकल में किसी भी प्रकार की दिक्कत आ रही है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के पूछ सकते हैं तो हम आपके सवाल का जवाब जल्दी से जल्दी देने की कोशिश करेंगे।

धन्यवाद।

Bhushan
Bhushanhttp://www.bloggerkey.com
I am Bhushan Garg MCA Holder and 30 years old young Enterpreneur. By profession I'm a Blogger, Computer Trainer, and SEO Optimizer.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,500FansLike
200FollowersFollow
500FollowersFollow
500FollowersFollow
800FollowersFollow
1,380SubscribersSubscribe

Latest Articles

Categories

error: Content is protected !!