What is Data Entry and Keyboard Skills?

इस पोस्ट में आप सीखेंगे What is Data Entry and Keyboard Skills (Data Entry क्या है ?) और Types of Keys in Keyboard.

इस सब को details में आप इस आर्टिकल के अंदर पड़ने वाले है तो प्लीज इस पोस्ट को last तक जरुर पड़े ताकि आपको कंप्यूटर के बारे में पूर्ण ज्ञान हो सके.

What is Data Entry?

जैसे Typist का काम कंप्यूटर पर डाटा टाइप करना होता है ठीक उसी तरह text , number आदि के रूप में अलग अलग प्रकार के डाटा को कंप्यूटर program पर टाइप करना ही Data Entry कहलाता है.

Data Entry के लिए कोई special knowledge की जरूरत नही है या अलग से course करने की आवश्कता नही है. वर्तमान समय में Online और Offline दोनों जगह पर डाटा एंट्री का कार्य किया जा सकता है.

ऐसी बहुत सी websites है जो data entry jobs provide करती है जैसे सबसे most popular fiverr से भी लोग डाटा एंट्री का काम करके पैसा कमाते है.

Data Entry किसी भी प्रकार की हो सकती है जैसे किसी database में डाटा को update करना, किसी document में पेपर टाइप करना, एक्सेल Entries, स्कैनिंग एंट्री, Web Research, job posting इत्यादि कार्य data entry के अंतर्गत हो आते है.

Keyboard Skills

Keyboard एक इनपुट device है जिसका प्रयोग मुख्य रूप से text इनपुट करने के लिए किया जाता है. कीबोर्ड में 100 से जायदा keys होती है और अलग अलग तरह की keys होती है.

Keyboard Skills

Types of Keys

एक कंप्यूटर कीबोर्ड में निम्नलिखित प्रकार की keys होती है

Alphanumeric Keys, Punctuation Keys, Arrow Keys, Shift key, Ctrl and Alt Keys, Backspace Key, Caps Lock Key, Delete Key, Enter Key, Function key (F1 to f12), Esc Key, Numeric Keypad, Home Keys, Guide Keys.

What is Home Keys or Guide Keys?

Home Keys

Alphabets बाये हाथ के लिए प्रयोग होने वाले ASDF home keys है और ;LKJ दायिने हाथ के लिए. प्रतेक ऊँगली किसी अन्य Row में सम्बन्धित key को depressed करने के बाद तुरंत अपने home keys पर वापिस आ जाती है.

Guide Keys

कंप्यूटर कीबोर्ड पर ‘F’ `और ‘J’ key बाये और दायिने हाथ के लिए प्रयोग होने वाली key को guide keys कहा जाता है. इन दोनों keys में एक tangible mark है जिसकी help से टच टाइपिस्ट अपनी उंगलियों को home keys पर सही ढंग से रख सकता है.

Numeric Keypad

एक Numeric Keypad में चार columns और Five Rows होती है जिस पंक्ति में 4,5,6 और + होती है उसे Home row कहा जाता है. Numeric Pad में संख्या 5 एक guide key है इसमें छोटा सा एक tangible mark होता है जो अन्य keys पर उंगलियों के स्थान पर टच टाइपिस्ट के लिए guide के रूप में कार्य करता है. Numeric Keypad पर ‘0’ को दाहिने हाथ के अंगूठे से press किया जाता है.

Keys of Computer Keyboard

  • Alphanumeric Key – Keyboard पर सभी alphabets(a-z) और numeric (0-9) alphanumeric keys होती है.
  • Punctuation Keys – इन keys के अंदर Comma (,), Period (.), Semicolon (;), Brackets ({}), or Mathematical Operators (+, -, =) इत्यादि.
  • Alt key – इसको Alternate key कहा जाता है. ये key भी कण्ट्रोल key की तरह वर्क करती है.
  • Caps Lock Key – CapsLock key एक toggle key है इस key का प्रयोग अक्षरों को बढ़ा करने के लिए होता है.
  • Backspace Key – ये key Cursor के बायीं साइड की तरफ अक्षर को delete करती है.
  • Ctrl key – इस key का प्रयोग किसी अन्य key के combination के साथ किया जाता है और ये कभी भी अकेली key काम नही करती. और इस key का कार्य अलग अलग program में अलग अलग operation परफोर्म करना होता है.
  • Delete key – Del key का प्रयोग कर्सर के दायिने साइड की तरफ अक्षर को delete करने के लिए होता है.
  • Enter key – इस key का उपयोग किसी कमांड को चलाने या Cursor को अगली लाइन में ले जाने के लिए करते है.
  • Function key – एक कंप्यूटर कीबोर्ड में 12 function keys होती है F1 से F12 तक. इस keys का प्रयोग अलग अलग program में अलग उपयोग होता है.
  • ESC key – इस key का प्रयोग किसी भी program और टास्कस से बाहर आने के लिए करते है.
  • Arrow Keys – इस keys का use cursor को ऊपर निचे और बायीं – दायीं करने के लिए करते है.
  • Page Up एंड Page Down – इस दोनों keys का प्रयोग किसी document में एक page ऊपर और एक पेज निचे जाने के लिए करते है.

Mouse (माउस)

Mouse भी कीबोर्ड की तरह इनपुट device है mouse को pointing device के नाम से भी जाना जाता है इसके 3 बटन होते है.

Mouse के द्वारा हम screen पर cursor की help से point करके अपना इनपुट कंप्यूटर तक पहुंचाते है. और कंप्यूटर पर किसी भी icon या फोल्डर को drag एंड drop किया जा सकता है.

Mouse -Pointing Device

Left Button 

कंप्यूटर में किसी भी files और फोल्डर को open करने के लिए left बटन का प्रयोग करते है. किसी सॉफ्टवेर को चलाने के लिए भी left बटन का इस्तेमाल करते है. left बटन का इस्तेमाल करने के लिए index फिंगर का प्रयोग करते है.

Right बटन

किसी फोल्डर या फाइल या सॉफ्टवेर के आप्शन open करने के लिए right बटन का इस्तेमाल करते है और ये Middle फिंगर द्वारा right बटन का उपयोग होता है.

Scroll Button

इस बटन का प्रयोग Window screen पर ऊपर से निचे और निचे से ऊपर आने जाने के लिए किया जाता है

To more Learn about Keyboard skillsclick Here

Leave a Comment

error: Content is protected !!