What is Black Hat SEO in Hindi? 10 Black Hat SEO Techniques

आज के इस आर्टिकल में हम जानेगे कि Black Hat SEO क्या है और Black Hat SEO techniques कैसे काम करती है. जो एक नए ब्लॉगर के लिए जानना बहुत ही जरूरी है.आप इस आर्टिकल पढने के बाद आपका सारा doubt clear हो जायेगा कि ब्लैक hat seo असल में क्या है.

आज के टाइम हर कोई ब्लॉग्गिंग के field में है और उन्हें जरुर दोनों terms के बारे में पता होगा कि Black Hat Seo and White Hat Seo क्या है क्योंकि हम ये जानते है कि SEO ब्लॉग के लिए कितना important है.

जैसा की आपको पता होगा कि किसी भी वेबसाइट के लिए SEO कितना जरूरी है क्योंकि SEO के बिना कभी भी आपकी साईट गूगल में रैंक नही करेगी.

इसीलिए यदि आपकी वेबसाइट का seo बढ़िया है तो अपनी वेबसाइट में अच्छा ट्रैफिक generate कर सकते है. seo के बारे में ज्यादा जानने के लिए आप हमारे SEO क्या है? के आर्टिकल को रीड करके अच्छे से जान सकते है.

SEO एक ऐसी तकनीक है जिसका प्रयोग करके आप अपनी वेबसाइट पर volume और क्वालिटी ट्रैफिक ला सकते है but कई ब्लॉगर अपने ब्लॉग को जल्दी पोपुलर करना चाहते है तो तुरंत ट्रैफिक लाना चाहते है.

ऐसे में वो ऐसी ट्रिक्स find करते रहते है कि जिससे वो अपने ब्लॉग या वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ा सके. तो उन्हें फिर black hat seo ही नज़र आता है. क्योंकि ब्लैक हैट seo करने से आपकी वेबसाइट पर तुरंत रिजल्ट आता है.

What is Black Hat SEO in Hindi

Black Hat SEO एक ऐसी तकनीक है जिसमे सर्च इंजन के रूल्स और गाइडलाइन्स को ignore करके अपनी वेबसाइट पर हाई ट्रैफिक पाने के लिए किया जाता है. Black Hat SEO को negative SEO भी कहाँ जातां है.

Black Hat SEO करने से गूगल आपकी साईट पे पेनेल्टी भी लगा सकता है और साईट की रैंकिंग को डाउन भी कर सकता है.

कम समय में अपनी वेबसाइट को टॉप पर लाने के लिए ही Black Hat SEO का प्रयोग किया जाता है. किसी वेबसाइट का डोमेन ब्लैकलिस्ट है या नही इसका पता इस वेबसाइट के द्वारा लगाया जा सकता है – MX toolBox Tool.

Black Hat SEO से कैसे बचा जा सकता है इसके क्या techniques है इसके बारे में आपको निचे फुल डिटेल्स में पता चल जायेगा.

Black Hat SEO को मैं आपको एक example के according समझाने की कोशिश करता हूँ

  • मानलो कोई movie रिलीज़ होने वाली है और उसके लिए सर्च इंजन में टॉप पर लाने के लिए बहुत कम समय की जरूरत होती है इसके लिए seo की जरूरत नही पढ़ती. इस टाइप के प्रोसेस में Black Hat SEO का प्रयोग किया जाता है.

आपको एक बात ध्यान में रखना है की गूगल सर्च इंजन अपना algorithm change करता रहता है जिससे कि user को best रिजल्ट मिल सके.

इसके example है Google Panda और Google Penguin. इसके बाद बड़ी से बड़ी साइट्स को penalize कर दिया गया था. जो इसके रूल्स को फॉलो नही करती थी. और उन वेबसाइट को रैंकिंग और वैल्यू में बढ़ा नुकसान पहुंचा था.

Black Hat SEO से कुछ समय के लिए ट्रैफिक को अपनी वेबसाइट पर लाया जा सकता है अब मैं आपको कुछ ऐसे methods या technique बताने वाला हूँ जिसका प्रयोग करके आप Black Hat SEO कर सकते है.

Black Hat SEO Techniques

Black Hat SEO Kya hai

Keyword Stuffing

किसी पोस्ट में कीवर्ड का बिना जरूरत के बार बार प्रयोग करना ही कीवर्ड stuffing कहलाता है. ताकि सर्च इंजन में उस पोस्ट को रैंक करवाया जा सके.

ये गलती ज्यादातर न्यू ब्लॉगर करते है जिनको इसके बारे में पूरी जानकारी नही होती. ऐसा करने से viewer को पोस्ट पढने में अच्छा नही लगता क्योंकि बिना किसी कारण से एक ही कीवर्ड का ज्यादा प्रयोग करना भी गलत है.

इसीलिए अपने वेबसाइट या ब्लॉग में क्वालिटी कंटेंट ही लिखे और कीवर्ड stuffing से बचे क्योंकि इसके मामले में गूगल काफी strict हो गया है वो आपकी वेबसाइट को penalize भी कर सकता है. कीवर्ड density हमेशा अपने ब्लॉग में 1.5% – 2% तक ही रखे.

Keyword Stuffing करना भी Black Hat SEO Techniques की केटेगरी में आता है.

Cloaking

Cloaking एक ऐसी तकनीक है जिसमे यूजर को दिखाया गया कंटेंट, सर्च इंजन के crawler द्वारा दिखाया गया कंटेंट बिलकुल अलग होता है.

कुछ ब्लॉगर सर्च इंजन व् viewers के लिए एक ही पेज के 2 version बनाते है और जब सर्च इंजन उन pages को crawl करता है तो पेज बनाने से तो satify हो जाता है but विजिटर को रिजल्ट कुछ और ही होता है. इसी को cloaking बोला जाता है. Cloaking भी Black Hat SEO Techniques की केटेगरी में आ जाता है.

यदि गूगल को पता चल जाये की साईट cloaking है तो आपकी साईट को permanent ban भी कर सकता है. क्योंकि गूगल के rules और गाइडलाइन्स के against है.

यदि आप फिर भी जानना चाहते है कि गूगल आपकी वेबसाइट को कैसे देखता है तो आप गूगल के URL Inspection Tool का प्रयोग कर सकते है. और compare करवा सकते है कि यूजर क्या देख रहा है.

Doorway or Gateway Pages

Doorway Pages उन pages को कहा जाता है जिनमे कंटेंट कम होता है और कीवर्ड stuffing का इस्तेमाल बहुत ज्यादा होता है. तो इन poor क्वालिटी पेजेज को ही doorway pages कहाँ जाता है.

एक तरह के वो fake pages है जिन्हें सर्च इंजन spiders को ध्यान में रखकर बनाया गया होता है जिस्समे वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ाया जा सके. और इन pages को viewers नही देख सकता.

Mirror Sites

इस तरह की साइट्स के अंदर यूजर एक से अधिक साइट्स को क्रिएट करता है और उसमे एक ही तरह का कंटेंट add कर देता है. इससे गूगल को आसानी से आपके डुप्लीकेट कंटेंट का पता चल जाता है और वो penalize भी देता है. ये भी Black Hat SEO Techniques में से एक है.

ऐसा करने से आपके सभी साइट्स की रैंकिंग डाउन हो जाती है but ऐसा इसीलिए किया जाता है कि उन्हें Backlinks मिल सके.

Example :- Blogger एक free प्लेटफार्म है और उसपे लोग बहुत सारे वेबसाइट create कर लेते है और same कंटेंट सब पर शेयर कर देते है. और सभी वेबसाइट का लिंक आपस में कनेक्ट कर देते है.

Meta Keyword Stuffing

Meta Keywords वो short description वर्ड्स है जिन्हें viewers को ये बताना होता है कि आर्टिकल किसके related लिखा गया है. but अब इन meta keywords का भी गलत इस्तेमाल होने लगा है और बार बार ऐसे कीवर्ड का इस्तेमाल किया जाता है जिनका आर्टिकल से कोई सम्बन्ध नही है ये सब रैंकिंग को बढ़ाने के लिए किया जाता है.

यदि हम meta description में बार बार कीवर्ड का प्रयोग करते है तो इसे meta tag stuffing बोला जाता है. Meta Tag Stuffing भी Black Hat SEO Techniques का ही एक पार्ट है.

लेकिन अब गूगल मेटा कीवर्ड को कोई वैल्यू नही देता but दुसरे सर्च इंजन जैसे bing और yahoo अब भी मेटा कीवर्ड को वैल्यू देते है.

यदि आपको किसी वेबसाइट का मेटा कीवर्ड चेक करना हो तो आप उस पेज पर right click करके view Source में जाकर देख सकते है.

Link Farms

लिंक farms ऐसी websites का कलेक्शन है जो एक दुसरे के साथ कनेक्ट करता है. ये inbound link को बढ़ा देता है. जिससे रैंकिंग boost हो जाती है. but ऐसा करने से google के दृष्टिकोण से सही नही है वो आपकी वेबसाइट को penalty की और ले जा सकता है.

पहले लिंक farms का बहुत उपयोग किया जाता था क्योंकि तब पेज रैंक मायने रखता था लेकिन समय के साथ साथ गूगल के algorithm भी change हो गये है. और अब गूगल बढ़ी आसानी से लिंक farms का पता लगा लेते है. इसलिए इनसे आपको उपयोग करने से बचना चाहिए.

Link Exchange

Link Exchange ट्रैफिक को बढ़ाने और रैंकिंग में सुधार लाने के सबसे easy तरीका है. but ये तरीका कुछ समय के लिए तो काम करता है पर बाद में नही. यदि आप bad links ओइर unrelated links कनेक्ट करते है तो ये आपकी वेबसाइट की रैंकिंग को effect करते है.

Link Exchange करना भी Black Hat SEO Techniques की केटेगरी में आता है.

Paid Traffic process भी black hat seo की केटेगरी में आता है क्योंकि जब आप unknown websites से ट्रैफिक खरीदते है तो आपके वेबसाइट का bounce rate बढ़ जाता है. इसका मतलब है की लोग आपकी वेबसाइट पर तो आ रहे है लेकिन होम पेज पर जाकर exit हो जाते है.

ये process आसान तो बहुत है लेकिन Google के गाइडलाइन्स according नही है. but सभी websites ऐसे नही है जैसे social media (facebook, Instagram, Pinterest इत्यादि)

आज की इन्टरनेट की दुनिया में ऐसे बहुत से सॉफ्टवेर और websites है जो अनलिमिटेड ट्रैफिक provide करती है कुछ सॉफ्टवेर फ्री भी है. जिससे आप अपनी वेबसाइट के लिए फ्री में ट्रैफिक generate कर सकते है जैसे कि hitmap.

इसमें वेबसाइट add करते ही आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक तो आ जायेगा but ये google के लिए करना गलत है. इससे adsense account block भी हो जाता है.

Paid Traffic अपनी वेबसाइट पर लाना भी Black Hat SEO Techniques की केटेगरी का ही एक पार्ट है.

Invisible Texts

Invisible text का मतलब है white text लिखना. ये टेक्स्ट विजिटर को कभी दिखाई नही देता but सर्च इंजन के क्रॉलर इसे बड़ी आसानी से देख लेते है और इंडेक्स कर लेते है.

पहले इस technique का लोग उपयोग अपनी वेबसाइट में करते थे ताकि वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ा सके. but अब सर्च इंजन भी स्मार्ट हो गये है. ये भी Black Hat SEO Techniques के केटेगरी में आता है.

बहुत से नए ब्लॉगर अपने आर्टिकल को रैंक करवाने के लिए उसमे invisible keywords का इस्तेमाल करते है.

Over Optimizing Alt Tag

Search Engine कभी भी इमेज को नही पढ़ सकते वो इमेज को Alt टैग की मदद से समझते है कि इमेज किसके बारे में है.

यदि आप अपने आर्टिकल में image पर एक से ज्यादा कीवर्ड का प्रयोग करते है तो इसे over optimizing  कहाँ जायेगा. और ये Black Hat SEO Techniques की केटेगरी में आ जायेगा.

इसीलिए अपनी इमेजेज के लिए सही तरीके से Alt डिस्क्रिप्शन का प्रयोग करे.

Spam Comments

comments backlinks बनाने में हेल्प करते है but कई ब्लॉगर इसे स्पैम तरीके से प्रयोग करते है ताकि backlinks बना सके. ये tecnique आज के टाइम में सबसे ज्यादा Black Hat SEO Techniques में से एक है.

आपने बहुत से स्पैम कमेंट देखे होंगे इसी कारण ज्यादातर ब्लॉग अब कमेंट लिंक के लिए nofollow tag का प्रयोग करता है. और गूगल भी कमेंट लिंक को फॉलो नही करता, लिंक जूस पास नही करता है.

यदि आपकी वेबसाइट पर spam कमेंट करता है तो आप उसे अपनी वेबसाइट से डिलीट करदे. और इसलिए वर्डप्रेस बहुत से ऐसे plugins है जिन्हें automatic स्पैम कमेंट को डिलीट किया जा सकता है. इसके लिए मैंने 10 Best WordPress Plugins For Blog के बारे में आर्टिकल लिखा है जो एक नए ब्लॉगर के लिए बहुत ही जरूरी है.

backlinks के लिए कमेंट उन साइट्स पर ही करे जिनका DA(Domain Authority) rank अच्छा हो. DA or PA check करने के लिए आप इस साईट का प्रयोग कर सकते है.

Article Spinning

किसी कंटेंट को rewrite करना ही article spinning माना जाता है

ये एक तरह से कॉपी करने के समान है. बहुत सारे यूजर बहुत स्मार्ट समझते है और वो article spinner सॉफ्टवेर का प्रयोग करके आर्टिकल को spin कर लेते है. जो भी पोपुलर posts होती है उनको आर्टिकल स्पिन्निंग की हेल्प से एक नया कंटेंट बना लेते है.

किन्तु ये कंटेंट पूरी तरह से 100% unique नही होता. आपको निचे image में देख सकते है एक साइड में ओरिजिनल कंटेंट है और दूसरी साइड में उसमे स्पिन करके एक नया कंटेंट बना दिया है जो की बिलकुल अलग होता है और visitor कभी भी ऐसा कंटेंट नही पड़ेगा.

Black Hat Seo in Hindi

Conclusion

आज के इस आर्टिकल में आपने सिख लिया है कि Black Hat SEO क्या होता है और इसके क्या क्या Black Hat SEO Techniques है जिन्हें हम अपनी वेबसाइट के लिए प्रयोग करते है. यदि आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कोई doubt है तो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते है और मैं पूरी कोशिश करूंगा आपके कमेंट का reply करने की.

यदि ये पोस्ट अच्छा लगे तो प्लीज इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ताकि जो भी नए ब्लॉगर है उन्हें Black Hat SEO के बारे में पता लग सके. otherwise इस पोस्ट को पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद !

Leave a Comment

error: Content is protected !!