What is Gateway in Hindi | Gateway kya hota hai

नमस्कार दोस्तों, आज के इस युवा युग में Gateway का नाम तो आपने जरूर सुना ही होगा, अगर आप इसके बारे में नहीं जानते हैं, और आप जानने में रुचि रखते हैं, तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर आए हैं, हम आज आपको बताएंगे कि Gateway Kya Hota hai बहुत ही सरल शब्दों में तो चलिए शुरू करते हैं।

Gateway एक ऐसा junction होता है, जिसका इस्तेमाल नेटवर्क को अंदर जाने के लिए या उससे बाहर आने के लिए किया जाता है, इसको हम इंटरनेट की भाषा में node, जो कि स्टॉपिंग पॉइंट भी होता है उसे हम एक host node भी कहते हैं।

Gateway का ज्यादातर इस्तेमाल किसी company के network को या ISP के ट्रैफिक और बैंडविथ को कंट्रोल तथा मैनेज करने के लिए होता है, इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़े, हम आपको बिल्कुल अच्छे तरीके से समझाएंगे की Gateway Kya Hota Hai?

Gateway Kya Hota Hai (What is Gateway in Hindi):-

Gateway के बारे में अगर हम सरल शब्दों में बात करें, तो यह एक ऐसा नेटवर्क डिवाइस है, जिसका प्रयोग अलग-अलग दो networks को एक दूसरे के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है, जिसके कारण networks एक दूसरे के साथ आपस में बातचीत (communication) कर सकते हैं।

यह एक प्रकार का Hardware device भी है, जिसका इस्तेमाल telecommunication के लिए किया जाता है, इस डिवाइस का इस्तेमाल करने के बाद आसानी से हम दो अलग-अलग networks को ट्रांसमिशन प्रोटोकॉल के साथ जोड़ दिया जाता है।

Gateway को एक प्रकार का node माना जाता है, क्योंकि यह network के लिए entry और exit point की तरह काम करता है, किसी भी प्रकार का डाटा हो उसे रूट किए जाने से पहले Gateway से होकर ही निकलना पड़ता है।

इस डिवाइस का इस्तेमाल इंटरनेट services providers की मदद से इंटरनेट की सुविधा प्रदान करने के लिए किया जाता है और इसके अलावा इसके द्वारा हम Web की सुविधा भी प्राप्त करते हैं, इसके अंदर कुछ ऐसे Hardware और Software डिवाइस भी होते हैं, जिनके बिना इंटरनेट का उपयोग करना बेहद ही कठिन है।

Gateway ke Types (Types of Gateway in Hindi):-

Gateway को दो भागो में बांटा गया है-

  1. Unidirectional Gateway.
  2. Bidirectional Gateway.

1.Unidirectional Gateway:-

Unidirectional gateway एक प्रकार से Hardware और Software दोनों का एक combination है, जिसकी मदद से Software और Hardware दोनों को आपस में जोड़कर बनाया गया है, यह डाटा को सिर्फ एक ही डायरेक्शन में transmit करने की अनुमति प्रदान करता है, इस Gateway को archiving tool भी कहा जाता है।

2. Bidirectional Gateway:-

Bidirectional Gateway एक प्रकार से डाटा को दोनों डायरेक्शन में transmit करने की अनुमति प्रदान करता है, इस Gateway का इस्तेमाल synchronization devices के अंदर  किया जाता है, synchronization एक प्रकार की प्रक्रिया होती है, जिसके अंदर मोबाइल डिवाइस, कंप्यूटर सरवर के साथ संचार करता है।

Gateway ke Fayde (Advantages of Gateway in Hindi)

  • Gateway के अंदर network को बढ़ाया जा सकता है, जिसके द्वारा लंबी दूरी का संचार संभव हो पाता है।
  • Gateway की मदद से विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर से जानकारी को हासिल करना बेहद सरल होता है।
  • Gateway यूजर के डाटा को safe करता है।
  • Gateway डाटा को प्रोडक्ट करने के लिए user ID और password जैसी सुविधा प्रदान करता है,. जिसमें केवल authorize यूज़र ही डाटा को access कर सकता है।
  • Gateway डिवाइस डाटा पैकेट और सेवाओं को फिल्टर करने का काम भी करता है, जिसकी मदद से डाटा पैकेट और सेवाओं को analyse करना बेहद ही सरल हो जाता है।

Gateway ke Nuksan (Disadvantages of Gateway in Hindi)

  • Gateway को setup करना बेहद ही कठिन कार्य होता है।
  • Gateway बहुत ही ज्यादा महंगा डिवाइस है।
  • Gateway के अंदर डाटा को ट्रांसफर करने के लिए बहुत ही ज्यादा समय लगता है।
  • Gateway एक ऐसा डिवाइस है जो कि दूसरे डिवाइस इससे वार्तालाप नहीं कर सकता है।
  • Gateway डिवाइस के अंदर संचार करते समय user को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

Conclusion:-

हमने आपको हमारी तरफ से What is Gateway in Hindi (Gateway Kya Hota Hai?), Advantages of Gateway? के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी समझ आई होगी। और आने वाले समय में यदि आप Gateway का उपयोग करते हैं। तो आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी से कुछ लाभ होगा।

अगर आपको  हमारे द्वारा दी गई जानकारी से सब कुछ अच्छे से समझ आया तो इस आर्टिकल को उन लोगों तक जरूर शेयर करें या अपने उन दोस्तों तक जरूर पहुंचाएं जो Gateway के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं।

इस आर्टिकल में हमने आपको बिल्कुल डिटेल से जानकारी देने की कोशिश की है, अगर आपको इस आर्टिकल में किसी भी प्रकार की दिक्कत आ रही है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं, तो हम आपके सवाल का जवाब जल्दी से जल्दी देने की कोशिश करेंगे।

धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!