Bounce Rate क्या है? Bounce Rate कम कैसे करे ?

ये आर्टिकल उनके लिए बहुत ही जरूरी है जिनका अपना खुद का वेबसाइट या ब्लॉग है. क्योंकि आज मैं इस आर्टिकल में SEO के सबसे important factor What is Bounce Rate और इसे कम कैसे किया जा सकता है, के बारे में बताने वाला हूँ.

यदि आप वेबसाइट या ब्लॉग अपना चलाते हो तो आपको थोडा बहुत Bounce rate के बारे में पता होगा. और आपने alexa में अपने वेबसाइट का global rank, india rank, और पेज पर कितने विजिटर आ रहे है. ये चेक करते होगे. तब आप उसके साथ bounce rate क्र बारे में भी देखते होगे.

असल में एक ब्लॉगर को उस टाइम सबसे बुरा लगता है जब वेबसाइट का bounce rate average से भी ज्यादा हो जाता है. और वेबसाइट या ब्लॉग की रैंकिंग आपने आप निचे आ जाती है.

जब आप एक नए ब्लॉगर है तो आपको कुछ SEO के कुछ terms के बारे में जानकारी होना अति आवश्यक है जैसे कि Alexa Rank, Site Speed, Traffic, Page Views. ये सभी terms seo के purpose से प्रयोग होते है.

  • हर एक ब्लॉगर को ये होता है कि उसकी साईट में विजिटर उसके पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा read करे But यदि कोई यूजर या विजिटर आपकी वेबसाइट के posts को रीड नही करना तो इसका meaning है. कि आपकी website का bounce rate बढेगा.

Bounce Rate को ठीक कैसे करे वो भी मैं आपको इस आर्टिकल के अंदर पूरी डिटेल्स में बताने वाला हूँ.

यदि आप अपनी वेबसाइट के लिए एक बढ़िया ट्रैफिक पाना चाहते है तो इस पोस्ट लास्ट तक जरुर पढ़े ताकि आप अपने ब्लॉग के लिए अच्छा ट्रैफिक ला सके. इसीलिए सबसे पहले ये जानते है कि Bounce Rate क्या होता है?

ये भी पढ़े –

What is Bounce Rate (Bounce Rate क्या है )

Bounce  Rate दो शब्दों से मिलकर बना है एक bounce जिसका meaning है Jump और दूसरा Rate जिसका मतलब है Quantiry या frequency.

“Bounce Rate का मतलब है उन visitors का percentage है जो आपके पेज पर तो आ जाते है but कोई दुसरे पेज पर क्लिक किया बिना ही वापिस चले जाते है”

What is Bounce Rate and How to Reduce Bounce Rate

Bounce Rate Reduce होने से  पता चलता है कि आपकी website के पोस्ट इतने बढ़िया नही पब्लिश हुए means उसमे कंटेंट अच्छी क्वालिटी का नही है. या फिर ये भी हो सकता है आपकी साईट का डिजाईन अच्छा न हो.

इससे आप ये चीज़ समझ लेना कि यदि bounce Rate ज्यादा हो रहा है तो आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के visitors कम हो रहे है. अगर विजिटर कम है तो रैंक भी कम होगा. और आप इनकम भी कम करोगे.

  • एक example लेकर अच्छे से समझते है जैसे हमारी साईट का बाउंस रेट 50% है तो इसका मतलब है. कि हमारी साईट को विजिट करने वाले total number of visitors में से 55% विजिटर ऐसे है जिन्होंने हमारी साईट पर केवल एक पेज ही ओपन किया है.

जितना आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट कम होगा उतना ही सबसे बढ़िया होगा. अब ये जानते है कि Bounce Rate कितना होना चाहिए.

Bounce Rate कितना होना चाहिए

अब तक अपने थोडा बहुत जान लिया है What is Bounce Rate. अब हम बात करते है कि bounce रेट कितना होना चाहिए.

अगर standard bounce rate की बात करे तो वो 10% से कम होता है. but 10% से कम बाउंस रेट प्राप्त करने वाली बहुत ही कम होती है. यदि आपकी साईट पर 90% है या उससे ज्यादा है तो इसका मतलब है कि यूजर को आपकी साईट पर कोई interest नही है.

bounce rate को medium लेवल होता है वो 40% से 70% तक होता है.

इसे सही तरीके से समझने के लिए मैंने इसे चार हिस्सों में बाँट दिया है

  • 1% से 10%
  • 10% से 40%
  • 40% से 70%
  • 70% से ज्यादा

यदि आप ये सोच रहे है कि सभी प्रकार के bounce rate समान होते है तो ये गलत है क्योंकि सभी बाउंस रेट समान नही होते. अलग अलग websites के लिए बाउंस रेट अलग अलग होते है. कुछ आंकड़े इस प्रकार है

  • Content वाली websites – 40% – 60%
  • Blogs – 70% – 98%
  • Lead Generation करने वाली वेबसाइटस – 30 – 50%
  • Retail कारोबार करने वाली वेबसाइट – 20 – 40%
  • Landing Page वाली साइट्स – 70 -90%
  • कोई भी सर्विस provide करने वाली वेबसाइट – 10 – 30%

अब आपने जान लिए है बाउंस रेट किस साईट के लिए कितना होना चाहिए और अब ये जानते है कि हम अपनी वेबसाइट के लिए Bounce Rate कैसे कम करे.

How to Bounce Rate Check For Website (Bounce Rate Check कैसे करें)

वैसे इन्टरनेट पर आपको बहुत websites मिल जाएँगी जिससे हम अपनी वेबसाइट के लिए बाउंस रेट चेक कर सकते है. but जो सबसे अच्छी और perfect साईट है वो है Google Analytics और Alexa.

एक नए ब्लॉगर के लिए बाउंस रेट का जानना बहुत जरूरी है जिससे वो अपनी वेबसाइट में सुधर ला सके.

Check Bounce Rate on Alexa

  1. Alexa.com पर जाये.
  2. Audience Geography
  3. Engagement
  4. Top Keyword from search engine
  5. Total sites linking
  6. Related Sites

सबसे पहले इस साईट में रजिस्टर करले ये 14 days के लिए free है तो आप इसकी service का फायदा उठा सकते है.

Bounce Rate on Google Analytics

Google Analytics में तो आप daily, Monthly, या फिर weekly का ट्रैफिक भी देख सकते है और उसके साथ ही आप bounce रेट भी चेक कर सकते है. but उसके लिए आपके ब्लॉग का analytics से कनेक्ट होना बहुत ही जरूरी है.

 

आपकी वेबसाइट का Bounce Rate बढने का क्या reason है ?

आपकी वेबसाइट का बाउंस रेट अच्छा नही है इसके बहुत से कारण हो सकते है-

  • Website का लोडिंग Speed ज्यादा होना.
  • high Quality Content का न होना.
  • Single Page Site का होना
  • Website का Design खराब होना.
  • Copy Paste Content का होना.
  • Traffic के लिए गलत keyword का रैंक करवाना.

How to Reduce Bounce Rate for Blog (Bounce Rate कम कैसे करें)

Site Design :- वैसे डिजाईन का कोई वैल्यू नही है but यदि आपकी साईट की डिजाईन मतलब fonts, images, background ये सब सही नही है और साथ में यदि साईट मोबाइल responsive नही है.

तो यूजर के लिए comfortable नही होता.  इसलिए बाउंस रेट का बढना एक आम बात है. इसलिए font का सही तरीके से select करे. ऐसा न हो कि साईट के अंदर अलग अलग तरह से font और उसका कलर अलग अलग करदे.

important यह है कि आपने अपनी ब्लॉग पोस्ट का format standard quality का रखना है न कि ज्यादा रंगीला हो.

Quality Content की कमी :- यदि आपकी वेबसाइट में हाई क्वालिटी कंटेंट ही नही होगा तो यूजर आपकी साईट पर ज्यादा देर तक नही टिक पायेगा इससे भी bounce rate jump हो जाता है. इसको कम करने के लिए आपको अपनी साईट की पोस्ट्स के लिए content 600 से 1000 words के वीच रखे और कंटेंट ऐसा हो जो यूजर को समझ आये.

Site Page Speed :- आपकी साईट की स्पीड बाउंस रेट के लिए बहुत ही matter करता है यदि आपकी साईट ओपन होने में ज्यादा time ले रही है तो विजिटर का response अच्छा नही मिलेगा और आपकी साईट पर विजिटर न के बराबर आयेंगे.

इसलिए आपकी साईट का loading speed ज्यादा होना चाहिए इसलिए लिए आप अपनी वेबसाइट के लिए बढ़िया होस्टिंग purchase करे यदि होस्टिंग buy कर रखा है तो fast loading speed plugins का प्रयोग करे.

यदि आपके पेज का loading time –

  • 1 Second से कम है तो बिलकुल perfect है.
  • 1 second से 3 second तक है तो average से ऊपर है.
  • 3 से 5 second है तो average कह सकते है.
  • but यदि 5 second से ज्यादा है तो poor माना जाता है.

Single Page Site :- आपकी वेबसाइट पर यदि एक ही पेज है तो भी ये कारण हो सकता है क्योंकि यूजर को यदि इनफार्मेशन चाहिए तो वो इससे रह जाता है.

Blog Writing फॉर्मेट:- एक standard format के अंदर पोस्ट को न लिखना भी गलत है क्योंकि यदि यूजर को पोस्ट पढने के बाद भी न समझ आये तो वो दोबारा आपकी वेबसाइट पर विजिट नही करेगा.

Copy Paste Content :- किसी भी वेबसाइट का content कॉपी न करे क्योंकि विजिटर को ये समझ में आ जाता है की ये कंटेंट किसी और वेबसाइट से लिया गया है.

Internal Link पर focus करे :- यदि आप अपनी पोस्ट के अंदर internal linking नही करोगे तो भी bounce rate बढ़ने की सम्भावना बढ़ जाती है. क्योंकि इससे readers कुछ समय कंटेंट तो पढ़ लेंगे.

But बाद में बंद करके चले जायेंगे इसलिए अपनी पोस्ट के अंदर related link डाले ताकि यूजर उसके related कंटेंट को भी पढ़ सके. इससे bounce rate कम हो जाता है.

ये भी पढ़े :-

Conclusion

आपने इस आर्टिकल में सिखा What is Bounce Rate और इसको कम करने के लिए क्या करना चयिहे. यदि आप इन  टिप्स  का use करोगे तो आप अपनी  वेबसाइट के लिए जरुर ट्रैफिक पा लोगे और Rank भी बढेगा. जिससे bounce rate की कमी आ जाएगी. यदि आपको इस पोस्ट से related कोई doubt है तो तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है तो मैं कोशिश करूँगा आपके कमेंट का रिप्लाई करने की.

अंत मैं यही कहना चाहता हूँ कि यदि ये पोस्ट आपको अच्छा लगे तो please इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि जो नए ब्लॉगर है Bounce Rate के बारे में अच्छे से पता लग सके.

इस पोस्ट को पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद !

Leave a Comment

error: Content is protected !!