What is Content Writing in Hindi? Content Writer कैसे बने ?

आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि content writing क्या होता है और ये ऑनलाइन काम करने के लिए क्यों जरूरी हो गया है. आज के टाइम की बात करी जाये तो सबसे ज्यादा ऑनलाइन फील्ड में यदि scope है तो वो है content writing.

यदि आपको लिखने का interest है और आप अपने इस interest को writing के द्वारा लोगो तक पहुंचाना चाहते है तो वो content writer बनकर ये शौक पूरा कर सकते है. content writer बनने के लिए आपको पूरा knowledge होना जरूरी है फिर ही  आप एक successful content writer बनोगे.

आज भी बहुत से लोग ये सोचते है कि ऑनलाइन काम करके हम एक fix income नही कर सकते. but ऐसे भी बहुत है जो ऑनलाइन फील्ड के अंदर काम करके अच्छी earning कर रहे है. मगर जिन्हें नही पता कि ऑनलाइन फील्ड के अंदर पैसा कमाने के लिए काम कैसे शुरू करे.

यदि आप भी ऐसे ही person है और जानना चाहते है कि ऑनलाइन के अंदर पैसे कैसे कमाया जा सकता है. तो आप please इस पोस्ट को last तक जरुर पढ़े ताकि आपके मन में ये doubt clear हो जाये. इसमें हम ऑनलाइन फील्ड में सबसे ज्यादा पोपुलर तरीका Content Writing के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है.

तो चलिए जानते है कि content writing क्या है और इससे घर बैठे पैसे कैसे कमाए जा सकते है.

Content Writing क्या होता है ?(What is Content Writing in Hindi)

Content का मतलब है किसी विषय पर लिखा गया आर्टिकल और writing का मतलब है लिखना | means किसी भी टॉपिक पर लिखा गया गया आर्टिकल content writing कहलाता है.

Content writing का हिंदी में मतलब है सामग्री या समान | content का मतलब जो भी चीज़ आप लिख रहे है जैसे आपने किसी टॉपिक पर आर्टिकल लिखा वो आपका content हो गया.

What is Content Writing in Hindi? Content Writer कैसे बने ?

Content Writing Meaning in Hindi

दुसरे शब्दों में कह सकते है कि एक ऐसा लेख जिसमे कुछ जानकारी दी गयी हो. वो जानकारी आपकी कुछ भी हो सकती है.

content writing सिर्फ लिखना ही नही बल्कि इसमें क्या important इनफार्मेशन डाल रहे हो वो लोगो के लिए कितना useful है ये भी जरूरी होता है.

जो भी content writer होता है अपने आर्टिकल को बेहतर बनाने के लिए keyword का इस्तेमाल करता है. उस कीवर्ड के द्वारा ही content को सर्च किया जाता है.

यदि आपको कीवर्ड रिसर्च करना आ गया और उसपर content लिखना आ गया तो ऑनलाइन के अंदर जितना मर्ज़ी पैसा कमा सकते है. क्योंकि आजकल ऐसी बहुत सी companies है जो content writer को hire करती है.

ऑनलाइन फील्ड के अंदर आज ऐसे बहुत से content writer ऐसे है जो अच्छा पैसा कमा रहे है. कहने का मतलब है कि ऑनलाइन में Content Writer jobs बहुत है. जिससे आसानी से किया जा सकता है.

Internet पर content को तीन तरीको से समझा जा सकता है

  • Text content – जिसमे सिर्फ पढ़ा जा सकता है जैसे आर्टिकल, books.
  • Audio Content – जिसे सिर्फ सुना जा सकता है जैसे fm, podcast.
  • Video Content –  जिस content को देखा और सुना जा सके जैसे movies, youtube videos.

Content Writing जैसा कि इसमें हमे text की form में अपने लेख को लिखते है. but यदि आप content के बारे details में ज्यादा जानना चाहते है तो आप हमारे content क्या है? के आर्टिकल को पढ़कर जान सकते है.

Content Writer की जरूरत क्यों है और किसको है ?(Importance of Content Writing)

आपने मन में ये सवाल होगा कि आखिर content writer की जरूरत क्यों है और किसको है. Actually बहुत से ब्लॉगर ऐसे है जिनके blogs या news रिलेटेड वेबसाइट होती है. और इस लोगो को अपनी वेबसाइट को टॉप करने के लिए बहुत सारा content लिखने की जरूरत पढ़ती है.

और उनको सबसे ज्यादा परेशानी तब होती है जब एक person पूरी वेबसाइट के content लिखने कि कोशिश करता है. क्योंकि news वेबसाइट ऐसी वेबसाइट है जिसमे डेली के 15 से 20 posts पब्लिश करनी होती है.

यदि उसपर एक ही person काम करेगा तो मुश्किल से 8 -10 आर्टिकल लिखा सकता है. तो ये यही पॉइंट है जहाँ content writer की जरूरत पड़ती है.

बहुत सारे लोग ऐसे भी है जिन्हें एक अच्छा और हाई quality content लिखना नही आता. तो वह content writer को hire करके अपने content को लिखवाने का काम करवाते है.

  • इसमें वेबसाइट owner content writer को per word के हिसाब से भुगतान करते है.

इसके इलावा जाने माने newspaper owner, मेगेज़ीन अपने content को लिखवाने का content writer से करवाते है और उन्हें अच्छा खासा भुगतान करते है.

Content Writing कितने प्रकार का होता है (Types of Content Writing)

Types of Content Writing

यदि मोटे तोर पर देखा जाये तो content writing तीन प्रकार का होता है.

  1. Regular Content Writing – ये वो content writer है जो किसी आर्गेनाईजेशन या कंपनी से जुड़े होते है और अपना ज्यतातर टाइम  content लिखने में करते है. इन writers को कंपनी सैलरी के रूप में भुगतान करती है. जिससे वो regular उस company या आर्गेनाइजेशन के लिए content लिखते है.
  2. Freelance Content Writing – इस तरह के content writer परमानेंट किसी कंपनी में काम नही करते है बल्कि अपनी मर्जी से अपने टाइम के according content write करते है. ये user कंपनी से contract लेते है और उसके बदले में उनको भुगतान किया जाता है. इसमें उनको regular सैलरी नही मिलती. न ही वो kisi कंपनी से attached होता है. बस अपने घर पर बैठकर work from home काम करते है.
  3. Online Content Writer – इसमें user घर पर बैठे इन्टरनेट की मदद से project लेते है और उसके बदले में उन्हें client की तरफ से भुगतान किया जाता है जब वो project को कम्पलीट कर लेते है. तो इसे हम ऑनलाइन content writer कह सकते है.
  4. Offline Content Writer – जब अन्य किसी ऑफलाइन साधन के द्वारा content लिखा जाता है उसे ऑफलाइन content writer कहा जाता है. पहले के टाइम में ये बहुत लोकप्रिय था but इसका आज के टाइम में कोई role नही है.

Content Writer कैसे बने ?

एक अच्छा content writer बनने के लिए आपके पास इन चीजों का होना बहुत जरूरी है.

Content Writer बनना इतना आसान नही है इसकी जॉब के लिए आपके पास कुछ योग्यताये होनी चाहिए. जैसे मास कम्युनिकेशन की डिग्री का होना.

ये एक ऐसा course है जिसमे mass मीडिया की पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकती है. यदि आपको इंग्लिश टाइप karna है तो इंग्लिश की और यदि hindi टाइप karna है तो hindi भाषा की अच्छे से समझ हो. साथ ही साथ कंप्यूटर की भी knowledge हो.

इसके लिए आप चाहे content writing का course भी कर सकते है आजकल बहुत सी कंपनिया में intership को भी writing के लिए रखा जाता है. और कुछ टाइम के लिए content writing internship भी कर सकते है.

कंटेंट राइटर बनने के लिए skills (content writing skills)

  • content writer बनने के लिए skills means language में पकड़ मजबूत होनी चाहिए जिसमे आप content लिखो.
  • आपका लिखने का way आकर्षक और बेहतर होना चाहिए.
  • यदि apki writing स्पीड अच्छी है तो आप कम समय में ज्यादा पैसा कमा सकते है.

Content Writing Important Things (कुछ जरूरी बातें)

  • अपना profile Freelancer, Upword, peoperperhour जैसी साइट्स पर बनाये. इससे आपको काम के मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है.
  • Content is a king. इसीलिए content बनने की कला सीखे ताकि client आपके काम से खुश रहे और आपको काम लगातार देते रहे.
  • हमेशा सोशल मीडिया पर भी एक्टिव रहे. अपने content writer होने का ज़िक्र करे. इससे project के मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है.
  • Regular content लिखते रहे जिससे आपका experience बड़ेगा और आप और भी अच्छा content लिख पाएंगे जिससे आपका rate भी बढ़ जायेगा.

English Content Writer कैसे बने (How to Become Content Writer in English)

English का content writer बनने के लिए इंग्लिश की प्रॉपर knowledge होनी चाहिए. इंग्लिश में जो भी आप लिखे वो user या readers के पढने योग्य हो और साथ ही साथ कंप्यूटर टेक्नोलॉजी का भी ज्ञान हो. इंग्लिश language की अच्छी knowledge ही आपको content writer बना सकती है.

Hindi Content Writer कैसे बने (How to Become Content Writer in Hindi)

आज के टाइम में बहुत सी language में आर्टिकल लिखे जा रहे है. उनमे से एक hindi language है. बहुत से क्लाइंट्स ऐसे है जिन्हें hindi भाषा में content चाहिए होता है और app ऐसे client को सर्च करने content writing कर सकते है. और पैसा कमा सकते है.

अब बहुत तरह की जानकारिया hindi भाषा के आर्टिकल के द्वारा ही दी जा रही है. बस आपको hindi भाषा को पूर्ण ज्ञान हो जो भी आप लिख रहे है वो अच्छा होने के साथ साथ सही भी हो.

Content Writer से जुड़े कुछ important terms

अब मैं आपको कुछ ऐसे शब्द बताने वाला हूँ जो हर एक content writer को पता होने चाहिए.

SEO – इसका मतलब है search engine optimization. अपने content को सर्च engines में रैंक करवाना ही seo का काम है. यदि आप kisi के लिए या फिर अपना ब्लॉग लिख रहे हो तो seo के बारे में जानकारी होना अति आवश्यक है-

Word Count – इसका मतलब जितना आप अपने आर्टिकल में शब्दों का इस्तेमाल करते है वो word count होता है यदि आपका आर्टिकल 2000 शब्दों है है इसका मतलब है कि उसमे word count 2000 है.

Content Project – जिस person के लिए हम आर्टिकल्स लिखते है और कितना आर्टिकल लिखते है वो content project में आ जाता है. suppose करे कि हमने kisi के 25 आर्टिकल लिखने है तो हमारा project 25 आर्टिकल का हो गया.

PPW (Price Per Word) – kisi आर्टिकल के लिए content writer द्वारा rate के लिए use किया जाने वाला word है. इसमें आपको एक शब्द के बदले कितना पैसा मिल रहा है. normally ये 10 से 50 पैसो के बीच होता है.

Freelancer – जो user घर पर बैठकर ही बिना कंपनी के work करता है उसे freelancer कहाँ जाता है.

Content Writing कैसे करे (how to do content writing in india)

Content Writing kaise Karna Chahiye

Content Writer बनना कोई बड़ी बात भी नही है इसमें थोडा बहुत पढ़ा लिखा व्यक्ति आसानी से कर सकते है.

आप जिस भी विषय पर लिख रहे है वो आर्टिकल ऐसा होना चाहिए जिसे readers को पसंद भी आये. और लोग पढने में उत्साहित हो. अब मैं आपको ऐसी content writing स्किल्स के बारे में बताने वाला हूँ जो हर एक content writing में होनी चाहिए.

  • content writer बनने के लिए आपको पहले ये पता karna है कि आपको किस चीज़ कि knowledge सबसे ज्यादा है. means किस विषय के ऊपर या टॉपिक पर आप अच्छा content लिख सकते है.
  • जब आपको अपने interest का पता चल जाये उसके बाद आता है कि content writer को कैसे find करे. उसके लिए सोशल मीडिया का सहारा ले means फेसबुक पर groups सर्च karna होगा “content writing groups” लिखकर. आपके सामने बहुत सारे groups आ जायेंगे जिसको आपने join karna है but उन्ही group को join karna है जिसमे मेम्बर काफी जुड़े हो.
  • group में join होने के बाद आप user को personallly message inbox कर सकते है

सही जानकारी देना जरूरी है – आप जिस भी सब्जेक्ट पर लिख रहे है उसकी आपको सही और पूरी जानकारी होना अति आवश्यक है. यदि आप गलत जानकारी बताते है तो पुरे का पूरा content बेकार जाता है. इससे पाठक का आपके content से विश्वास चला जाता है.

Technology से जुड़ना चाहिए – आज का युग टेक्नोलॉजी का युग है और यदि आप अपने विचारो को टेक्नोलॉजी के माध्यम लोगो के सामने रखते है तो ये बहुँत बढ़िया है. इससे आप सोशल मीडिया की भी मदद ले सकते है.

Up-to-date रहना सीखे – हमेशा अपडेट रहे जितना जानकारी का भंडार आपके पास होगा उतना ही आप user को हाई quality और सभी प्रकार की जानकारी दे सकते है. साथ ही उनके द्वारा पूछे गये सवालों के जबाब भी दे सकते है.

Research सही तरीके से करे– content writing के लिए सबसे important काम रिसर्च का होता है यदि आपने गलत रिसर्च करके content में कुछ गलत लिख दिया तो इससे readers को गलत जानकारी मिलेगी और आपके प्रति विश्वास भी जायेगा. इसीलिए हो सके हमेशा content को सही तरीके से रिसर्च करके ही पब्लिश करे.

Proof Reading जरुर करे – जब आप पूरा content लिख लेते है तो उसको दुबारा से जरुर पढ़े क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि लिखते समय गलती हो जाती है और यदि आप उसे दुबारा  से पढ़ लोगे. इससे गलती भी निकल जाती है. और दूसरा user की नजरो से पढ़ पाएंगे कि पाठको को आपका content कैसा लगा.

  • Note:-  अगर आप भी घर बैठे कंटेट लिखने का काम कर सकते है तो आप इस नंबर पर Whatsapp कर सकते है – +9194167-39596 या फिर हमे ईमेल भी कर सकते है – [email protected]

कंटेंट राइटिंग करने के लिए क्या क्या चीजों कि जरूरत पढ़ती है (Content Writing Tools)

  • आपके पास कंप्यूटर या लैपटॉप हो. या फिर mobile से कर सकते है but उसमे karna थोडा सा मुश्किल है.
  • एक सॉफ्टवेर होना चाहिए जैसे Wordpad, Microsoft word या फिर notepad.
  • एक जीमेल अकाउंट हो.
  • एक बैंक का अकाउंट हो.

कंटेंट राइटिंग के लिए कौन कौन सी services है (Content Writing Services)

content writing के क्षेत्र में बहुत jobs है अपनी योग्यता के अनुसार आप इसमें future बना सकते है. कुछ services है जो आप कर सकते है जैसे

खुद की वेबसाइट बनाकर – अपने नाम को या अपने ब्रांड की identity बनाने के लिए आप अपनी खुद की वेबसाइट बना सकते है और जिस फील्ड में आपको सबसे ज्यादा interest है उसमे आप content पब्लिश करे.

News Chennel – यदि आपको देश दुनिया की गतिविधियों से जुड़े rehna पसंद है तो news चेंनेल में news writing कर सकते है. news writing करने वाले writer को हर क्षेत्र का ज्ञान होना जरूरी है.

Ecommerce Website – आज दुनिया में इन्टरनेट का डिमांड बहुत बढ़ गया है यदि आप ecommerce वेबसाइट चलाते है तो इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा. और अच्छे पैसे भी बनेगे. ई-कॉमर्स वेबसाइट होने से व्यक्ति आज घर से बाहर निकले बिना भी किसी भी सामान को ऑनलाइन अपने घर मंगवा सकता है।

content writing से कितना पैसा कमाया जा सकता है (How much money can earn from Content Writing)

content writing `से कितना पैसा कमाया जा सकता है ये सब आप पर depend करता है जितना ज्यादा मेहनत के साथ आप काम करोगे उतना ही पैसा आप content writing के फील्ड में कमा सकते है.

  • यदि आप freelancer घर बैठे करते है तो शुरू में 5000 से 20000 तक earn कर सकते है. ये पैसा depend करता है आपके writing स्पीड, आपके टाइम और आपके rate पर.

but यदि आप इंडिया content writer की जॉब करते है तो monthly आराम से 10000 से 15000 तक 8 घंटे काम करके कमा सकते है.

Content Writing Online Jobs in India

Content writing की ऑनलाइन जॉब find करने के लिए आप indeed, linkedin जैसी वेबसाइट में अपने अकाउंट create कर सकते है और वह पर content writers की पोस्ट पर apply कर सकते है.

content writing की jobs के लिए आपको घर से बाहर जाना पड़ता है जबकि freelancing में घर बैठे ही कर सकते है.

Some Common Terms (Content Writing)

Web Content Writing – इसके नाम से पता चल रहा है जो kisi वेबसाइट या ब्लॉग के लिए लिखा जाये तो web content writing कहा जाता है.

Content Marketing – यदि आपका खुद का ब्लॉग या वेबसाइट  है और उसमे खुद ही content write कर रहे है तो इस situation में ये होता है आप अपने content को promote करे. और लोगो तक पहुंचाए. content को लोगो तक पहुंचाना ही content मार्केटिंग कहलाता है. इसके लिए वैसे मैंने पूरा डिटेल्स के अंदर आर्टिकल लिखा हुआ है चाहे तो आप उस आर्टिकल को read कर सकते है.

Blogging और Freelancing में बेहतर कौन है (Blogging vs freelancing)

blogging में खुद के लिए content लिखते है जबकि freelancing में दुसरो के लिए content लिखते है.

ब्लॉग्गिंग एक बिज़नस की तरह है जबकि freelancing एक नौकरी की तरह.

यदि आप long term के लिए सोच रहे है तो ब्लॉग्गिंग सबसे बेहतर है but यदि कम समय में पैसा ज्यादा कमाना चाहते है तो आप freelancing कर सकते है.

Conclusion:

इस पोस्ट में आपने सिखा कि content writing क्या होता है और इससे पैसे कैसे कमाए जा सकते है. यदि आप एक नए ब्लॉगर है तो इसके बारे में पता होना बहुत ही जरूरी है. 

यदि आपको ये पोस्ट अच्छा लगे प्लीज इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि जो नए ब्लॉगर है उन तक ये जानकारी पहुंच सके और इसका वो लाभ उठा सके. इस पोस्ट से रिलेटेड कोईभी doubt है तो आप हमे comment जरुर करे. मैं कोशिश करूंगा आपके comment का रिप्लाई करने की.

इस पोस्ट को पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद !

Leave a Comment

error: Content is protected !!