How to Off Page SEO Optimization of Website [Hindi]

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे एक और शानदार आर्टिकल में। आज आप हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से सीखेंगे कि Website का Off Page SEO Optimization कैसे करें?(How to Off Page SEO Optimization of Website) किसी भी Website या Blog की सफलता के पीछे SEO का बहुत बड़ा हात होता है।

क्योंकि SEO के बिना हम अपनी Website को रैंक नहीं करा सकते हैं। जब भी कभी Website को  Search Engine में  आर्टिकल को रैंक कराने की बात आती है।

तो सबसे पहले दिमाग में Off Page SEO का ख्याल आता है ऐसा इसलिए क्योंकि Search Engine में बहुत सारे Ranking Factor होने के बावजूद Backlink एक अहम Ranking factor है।

Website में जितना अच्छा रिजल्ट On Page Optimization देता है, उतना ही अगर आप Off-Page SEO Optimization पर ध्यान दे, तो SERP Ranking और Website Traffic बढ़ाने मे फायदा होगा।

इसलिए आज हम How to Off Page SEO Optimization of Website के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करेंगे।

Off Page SEO क्या है

Off Page SEO

Off Page SEO एक ऐसी Technique है जिसके द्वारा Website के Ranking को Search Engine Result Page में Backlinks के द्वारा लाते है और Website को Improve करते है।

वो सारे Technique जो अपनी Site किसी दूसरे Site पर अभिनय किया जाता है और उनसे हमारे Website की Ranking Search Engine Result Page में बढ़ती है उसे Off Page SEO कहते है।

Off Page SEO में Backlinks की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है। बिना Backlinks के Off Page SEO ना के बराबर है। Off Page SEO में Link Building किसी भी Website को Rank कराने के लिए अहम है। जितना ज्यादा High Quality Backlinks आपके Site के बनेगे उतना ज्यादा Ranking में मदद मिलेगा।

Website का Off Page SEO Optimization कैसे करें (How to Off Page SEO Optimization of Website)

Off-Page SEO करने की बहुत सी तकनीक है बहुत से Points है, जोकि Off Page SEO के अंदर आते है। Off Page SEO के Under में Website की Authority, Bounce Rate, Search Engine Submission, Social Sharing, Domain Age, Backlink और Identity आती है।

Authority दो प्रकार की होती है, DA और PA

DA मतलब Domain Authority होता है।

PA मतलब Page Authority होता है। अगर आपकी Site का DA तथा PA अच्छा है तो Ranking में इसका काफी फायदा मिलता है, और इसके साथ ही साथ Site की Value भी बढती है।

1. Domain Authority

Domain Authority एक ऐसी Matrix होती है, जो बताती है कि किसी Website की Search Engine के नजरिए से क्या Value है। किसी भी Website की गूगल या किसी अन्य सर्च Search Engine के नजरों में क्या Reputation है।

इसकी गणना Domain Authority के द्वारा की जाती है, Domain Authority की माप Logarithmic Scale पर की जाती है। किसी भी ब्लॉग की Domain authority उस Blog को मिलने वाले Domain age, traffic, backlink तथा ब्लॉग की Identity पर निर्भर करती है।

2. Page Authority

Page Authority (PA) एक ऐसी Metrix होती जो किसी Website के एक Webpage के Search engine में Rank करने की क्षमता को बताती है, जिस प्रकार Page Authority पुरे Domain की Ranking क्षमता को बताती है।

उसी प्रकार Page Authority किसी एक सिंगल Page की Ranking क्षमता को बढ़ाती है। Domain Authority की तरह ही Page Authority की गणना Logarithmic Scale पर की जाती है। जिस Webpage की Page Authority अधिक होती है उस Webpage की Search Engine मे योग्यता भी ज्यादा होती है।

3. Backlink

Backlinks बनाने से Website को बहुत फायदा मिलता है। Backlinks का मतलब जब आप किसी और Site पर अपनी Website का Link देते हो, चाहे वो किसी भी तरीके से जैसे- Comment करके या Guest post करके।

सरल भाषा में समझाएं तो किसी दूसरे Blog के द्वारा आपके Blog का link खुद के Blog में देना BackLinks कहलाता है। Backlinks बनाने से आपकी Site की Domain Authority और Page Authority दोनों बढ़ती है। Backlink भी दो तरह की होती है।

A. Do follow BackLinks

B. No Follow BackLinks

Do Follow Backlink का मतलब जो Link आपकी Site पर फॉलो करती है। मतलब आपने अपनी Website की Link किसी और Site पर दी और वो Do Follow है तो जब उस Page को Google crawl करेगा, तो आपकी Link उस Site पर होने से आपकी Site पर भी आएगा।

इससे अगर वो Site अच्छी है मतलब उसकी DA, PA ज्यादा है तो आपकी Website की DA, PA भी बढ़ेगी। Do follow BackLinks आपके Blog के SEO में मदद करते है।

जब आप अपने Blog में किसी दूसरी Website/Blog का Link देते है, और उस पर No Follow का tag नहीं लगाते तो वह Do follow BackLinks कहलाता है।

No Follow BackLinks :- आपके Blog के SEO में कोई मदद नहीं करते है, No Follow Backlink Do follow Backlink से बिलकुल उलटा होता है। जब आप अपने Blog में किसी दूसरी Website/Blog का Link देते है। उस पर No Follow का tag लगा देते है।

तो वह No follow BackLinks कहलाता है। No Follow Back Link से आपकी Site पर Google या किसी भी  Search Engine के Crawl में नहीं जा सकते है।

क्योंकि जब उस Site से Crawler आपकी Site पर ही नही आ पाएंगे। हालाकि Visitor आपकी  Site पर आ सकते है मगर crawler नही तो सवाल ही नही उठता कि Site की Authority बढ़ेगी।

आपको सिर्फ Do Follow Backlink ही बनानी है वो ही आपकी Site के लिए beneficial होगा, और backlink भी आपको सिर्फ high authority  Site पर बनानी है

तभी आपको फायदा होगा। अगर आप low authority वाली Site से Backlink बनाते हो तो आपकी Site की ज्यादा Authority नहीं बढ़ेगी।

4. Domain Age

Domain Age का मतलब है की Domain को Active किए हुए कितने वर्ष हो चुके है। सीधे शब्दो में कहाँ जाए तो एक Domain को खरीदे हुए कितने वर्ष हो गये है। आपके Domain जितना पुराना होगा उतना Search Engine अधिक महत्व देते है।

अपनी वेबसाइट की डोमेन ऐज चेक करने के लिए आप निचे दी गयी साईट के द्वारा पता लगा सकते है –

क्योंकि पुराने Domin नए लोगों की तुलना में भरोसेमंद माने जाते हैं। SEO रैंकिंग में जो सबसे ज्यादा Domain की आयु मान्यता रखती है। इसीलिए आप पुराने Domain के साथ SERP में ज्यादा Quality और High quality Backlink प्रोफ़ाइल के कारण नए Domain को टॉप रैंक कर सकते हैं।

5. Guest Posting

अगर आप किसी दूसरे Blog पर कोई आर्टिकल Submit करें, और उस Website का Onwar उस पोस्ट को अपनी Website पर पब्लिश करें, तो आपकी पोस्ट उस ब्लाक के लिए Guest Posting कहलाती है।

आसान भाषा में समझे तो दूसरों की Site पर Guest Post लिखने पर दूसरी Site आपकी Site को एक backlink देती है, जिससे आपकी Site का off page seo सुधरता है।

दरअसल यह एक SEO TechniueTechniue है, जो Link Building के लिए इस्तेमाल की जाती है। यानी कि Guest Posting के जरिए आपको High quality Do Follow Backlink मिलती है। Website की रैंक को बढ़ाने और Website पर ज्यादा से ज्यादा Traffic लाने में मदद करती है।

6. Identity

Identity से मतलब होता है कि लोग आपको कितना जानते है। Blogging की दुनिया में अपनी पहचान बनाने के लिए आपको अपने Blog के About us Page में अपने बारे में पूरी जानकारी देनी है, और साथ ही अपना फोटो भी लगाना है।

इसके अलावा आप YouTube वीडियो बनाकर भी अपने Blog में डाल सकते हैं, या फिर YouTube पर आपका कोई इंटरव्यू है तो उसे भी About us पेज में link कर सकते है। इससे क्या होता है कि वेबसाइट पर आने वाले Visiter आपके बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

7. Bounce rate

Bounce rate से हर कोई Blogger बचना चाहता है, यह एक ऐसी Matrix है, जिसका बढ़ना Blogger के लिए चिंता का विषय बन जाता है। जब भी कोई Visitor हमारी Website पर आता है, और वह सिर्फ एक Page को पढने के बाद, बिना दूसरा Page को पढ़े हमारी Website से तुरंत Exit कर लेता है।

तो इसे Bounce कहा जाता है, जब भी किसी Website का Bounce rate अधिक होता है तो Search Engine को यह संकेत जाता है कि यह Website अच्छी नहीं है, और इस पर अच्छा Cantant नहीं है।

Bounce Rate कम करने के लिए आपकी Website की Loading Speed अच्छी होनी चाहिए। Blog का कंटेंट अच्छा होना चाहिए।

Visiter का Blog पर Time spend बढ़ाने के लिए आप Post में वीडियो भी add कर सकते है। अगर किसी Website का Bounce rate 1 से 20 प्रतिशत तक है,  तो वह सबसे कामयाब Website है।

अगर किसी Website का बाउंस रेट 80 % से अधिक है तो उस Website पर काम करने की बहुत जरुरत है। एक Blog के लिए 50 से 70 प्रतिशत का Bounce Rate बेहतर हैं।

8. Search Engine Submission

यह Point आपकी Website के लिए मुख्य Point है, इस Point में आपको केवल अपनी Website और आर्टिकल को सभी Search Engine में प्रस्तुत करना है।

जिस Site में Sitemap सबमिट करना होगा उसका आपके पास Email आ जायेगा आपको उन webmaster टूल पे जाकर sitemap सबमिट कर देना है, जिससे आपकी Website में जितने आर्टिकल है।

उनकी Link crawl होकर उस Search Engine में Submit हो जायेगी। ऐसा करने से आपकी Website और Website के आर्टिकल Search Engine में दिखेंगे और रैंक करेंगे वहीं से ही Traffic भी आएगा।

पर ध्यान रहे आपको समय-समय पर Google के webmaster में चेक करते रहना है कि Performance को और कोई error तो नही है।

9. Social Share

अगर आप अपने किसी Article को Social media Site जैसे- Facebook, Twitter, Linkedin, Pinterest in पर सांझा करते हो तो Traffic तो आएगा ही और साथ ही साथ यहां से  Search Engine में Ranking भी बढ़ेगी।

तो यहीं पर आपको Social Sharing का बहुत बड़ा फायदा मिल जाता है लेकिन अगर आप ज्यादा ही Link Facebook या अन्य social media प्लेटफार्म पर post करते हो।

जैसे 1 ही दिन में आप 4, 5 बार कर रहे हो तो social media  Site आपके Account या उस link को block कर देगी फिर आप अपनी Website के किसी भी Link को सांझा नही कर पाओगे।

तो इन चीजों को ध्यान में रखते हुए आपको social media पर अपने आर्टिकल की Link शेयर करनी है, और कोशिश करनी है कि लोग उसे Re-share करे तब आपको Ranking और Traffic में ज्यादा फायदा मिलेगा।

10. QnA Website Quora

Quora एक Question and Answer (QnA) Website है  जहां Blogger अपनी Website पर Traffic बढ़ाने के लिए इस Website का इस्तेमाल करते हैं।

यहाँ पर लोग दूसरे के द्वारा पूछे गये सवालों को जवाब देते है, और खुद भी सवाल कर सकते है, यहाँ पर आपको हर एक Niche या Topic से संबंधित प्रथम मिल जाएगा, जिनके आप उत्तर दे सकते है।

अब आपको यहाँ पर सावधानी के साथ चलना होगा तभी आप अपनी Website पर ज्यादा से ज्यादा Traffic और Earning बढ़ा सकते हैं।

सबसे पहले आपको यहाँ पर फ्री में अकाउंट बना लेना है जिसमे आप अपनी और अपने Blog की सभी Detail Link के साथ Submit कर देना है। उसके बाद आपको Niche से संबंधित प्रश्न Search करने है पर आप आर्टिकल लिख सकते हैं।

फिर उस प्रश्न का अच्छे से उत्तर लिखकर पोस्ट कर देना है और लास्ट में अपनी Website का Link दे देना है। अगर आपके द्वारा बताया गया उत्तर एकदम परफेक्ट होगा।

तो Visitor आपके उस आर्टिकल को पढ़कर आपके द्वारा दी गई Link पर क्लिक करके बाकी आर्टिकल पढ़ने के लिए Visit जरूर करेगेे।

11. Comment

हर किसी के Post में Comment Box होता है, Post पर जितने अधिक comment होते है, उस Page की Page authority उतनी ही अधिक होती है। जब कोई व्यक्ति आपकी पोस्ट पर Comment करता है।

तो आपको उसका Reply जरुर करना चाहिए, और दूसरों की Website पर जाकर उनके Article में कमेंट के जरिए अपनी Website की लिंक शेयर करनी चाहिए।

क्योंकि अगर कोई Visiter उस Article की कमेंट पढ़ता है, या उस पर कमेंट करता है तो उस कमेंट बॉक्स में आपके द्वारा दी गई लिंक पर क्लिक करने की संभावना बढ़ जाती हैं।

निष्कर्ष

मित्रों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से How to Off Page SEO Optimization of Website के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। आशा करता हु आपको हमारी यह Post पसंद आई होगी। अगर आपको इस Post से संबंधित कोई भी प्रश्न पूछना है, तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। इसके अलावा अगर हमारी यह पोस्ट आपको पसंद आई तो अपने सभी दोस्तों में इसे शेयर करके जरूर पहुंचाएं।

                             धन्यवाद।

Bhushan
Bhushanhttp://www.bloggerkey.com
I am Bhushan Garg MCA Holder and 30 years old young Enterpreneur. By profession I'm a Blogger, Computer Trainer, and SEO Optimizer.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

1,500FansLike
200FollowersFollow
500FollowersFollow
500FollowersFollow
800FollowersFollow
1,380SubscribersSubscribe

Latest Articles

Categories

error: Content is protected !!